रात दो बजे निजामुद्दीन मरकज पहुंचे NSA डोभाल, तब निकलने पर राजी हुई तबलीगी जमात

अमित शाह (Amit Shah) और अजित डोभाल (Ajit Doval) स्थिति को लेकर अच्छे से वाकिफ थे, क्योंकि जो 9 इंडोनेशियाई लोग तेलंगाना के करीमनगर मे कोरोना (Coronavirus) पॉजिटिव मिले थे, उन्हें सुरक्षा एजेंसियों ने 18 मार्च को मरकज में ट्रैक किया था.
Ajit Doval Nizamuddin Markaz, रात दो बजे निजामुद्दीन मरकज पहुंचे NSA डोभाल, तब निकलने पर राजी हुई तबलीगी जमात

निजामुद्दीन मरकज के प्रमुख मौलाना साद ने जब दिल्ली पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों की दलीलों के बावजूद बंगलेवाली मस्जिद को खाली करने से इनकार कर दिया था, तब गृह मंत्री अमित शाह ने जमात से मस्जिद खाली कराने की जिम्मदारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को सौंपी थी.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, अजीत डोभाल 28 मार्च की आधी रात 2 बजे मरकज पहुंचे थे और उन्होंने मौलाना साद को जगह खाली करने को लेकर समझाया. साथ ही डोभाल ने मौलाना से कोविड-19 टेस्ट कराने और क्वारंटाइन के लिए भी कहा था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

अमित शाह और डोभाल स्थिति को लेकर अच्छे से वाकिफ थे, क्योंकि जो 9 इंडोनेशियाई लोग तेलंगाना के करीमनगर मे कोरोना पॉजिटिव मिले थे, उन्हें सुरक्षा एजेंसियों ने 18 मार्च को मरकज में ट्रैक किया था. सुरक्षा एजेंसियों ने अगले दिन ही सभी राज्यों और पुलिस को मरकज में कोरोना संक्रमण का अलर्ट भेज दिया था.

27, 28 और 29 मार्च को मरकज ने तबलीगी कार्यकर्ताओं को अस्पताल में भर्ती होने की अनुमति दी थी. हालांकि मरकज को सेनेटाइज और वहां की सफाई का काम अजीत डोभाल के हस्तक्षेप के बाद ही संभव हो पाया. रिपोर्ट के अनुसार, अजीत डोभाल ने इस काम को अंजाम देने के लिए मुसलमानों के साथ अपने पुराने संपर्कों का इस्तेमाल किया.

दिल्ली स्थित हजरत निजामुद्दीन दरगाह के पास तबलीगी जमात के मरकज में जनता कर्फ्यू और लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाने के बाद देश-विदेश में कोरोनावायरस का खतरा बढ़ गया है. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है. निजामुद्दीन थाने के SHO मुकेश वालिया की कंप्लेंट पर FIR दर्ज की गई है. FIR में मौलाना साद समेत सात लोगों के नाम दर्ज किए गए हैं. इनमें मौलाना साद, डॉक्टर जीशान, मुफ़्ती शहजाद, मोहम्मद अशरफ, मुर्सलीन सैफ़ी, यूनिस और मोहम्मद सलमान को नामजद किया गया है.

मंगलवार को निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिसने पूरे इलाके में हड़कंप मचा दिया. कानून की धज्जियां उड़ाकर इस धार्मिक जलूस का आयोजन किया गया था, जिसमें काफी संख्या में लोग शामिल हुए थे. 1200 लोगों को निकालकर अलग-अलग अस्पतालों में पहुंचाया गया. कुल मिलाकर इस मरकज में लगभग 1400 लोग ठहरे हुए थे.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts