‘घुसपैठियों-आतंकियों पर पाकिस्तान लगा ले लगाम तो हटा ली जाएगी कश्मीर से पाबंदी’

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने सीमा पार से आतंकियों के सक्रिय होने की पुष्टि करते हुए कहा कि भारत सरकार और सुरक्षा बल पूरी तरह से अलर्ट हैं.

नई दिल्ली: कश्मीर में लगी पाबंदी को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल ने कहा कि हम सब वहां पर लगी पाबंदी को हटाना चाहते हैं. लेकिन वहां पर लगी पांबदी कब तक हटेगी यह पाकिस्तान के व्यवहार पर भी निर्भर करता है. अगर पाकिस्तान घुसपैठियों को भारत आने से रोक ले और आंतकी गतिविधियों पर लगाम लगा दे तो हमलोग वहां से पांबदी हटा लेंगे. एलओसी के पास 230 पाकिस्तानी आतंकी देखे गए हैं जो घुसपैठ की कोशिश में हैं, कुछ तो पकड़े गए हैं.

डोवल ने कहा कि कश्मीरियों की रक्षा के लिए हमने संकल्प लिया है और इसके लिए अगर हमें कुछ पाबंदियां लगानी हो तो हम वह भी करने के लिए तैयार हैं. पाकिस्तान के पास अब एक मात्र हथियार आतंकियों की मदद करना और आतंक फैलाना है.

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने सीमा पार से आतंकियों के सक्रिय होने की पुष्टि करते हुए कहा कि भारत सरकार और सुरक्षा बल पूरी तरह से अलर्ट हैं. उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर में आम लोग सरकार के फैसले के साथ हैं और आनेवाले वक्त में यह प्रदेश नए अवसर लेकर आएगा.

पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि उनके मंसूबे कामयाब नहीं होनेवाले हैं क्योंकि कश्मीर में पूरी तरह से शांति है और हालात सामान्य हैं.

सीमा पार से आतंकी गतिविधियों का निर्देश मिलने की पुष्टि करते हुए डोभाल ने कहा, ‘सीमा से 20 किमी. की दूरी पर पाकिस्तान के कम्युनिकेशन टावर हैं. हमने उनकी बातचीत सुनी है जिसमें कह रहे हैं कि तुम लोग क्या कर रहे हो? वहां (कश्मीर में) इतने सारे सेब से भरे ट्रक कैसे चल रहै हैं? तुम्हारे लिए क्या अब चूड़ियां भिजवा दें?’

उन्होंने आगे कहा कि राज्‍य के भौगोलिक क्षेत्र के 92.5 फीसदी हिस्‍से से पाबंदियां हटा ली गई हैं. जम्‍मू-कश्‍मीर के 199 पुलिस थाना क्षेत्रों में से केवल 10 में ही पाबंदियां लागू हैं. राज्‍य में 100 फीसदी लैंड लाइन सेवाएं बहाल कर दी गई हैं. मैं पूरी तरह आश्‍वस्‍त हूं कि अधिकांश कश्‍मीरी अनुच्‍छेद-370 हटाने के समर्थन में हैं. राज्‍य के लोग सरकार के फैसले को बेहतरी, आर्थिक खुशहाली और रोजगार के अवसरों के तौर पर देख रहे हैं.