Lockdown: रिश्तेदार ने घर से निकाला, अजनबी IPS ने मासूम को अपनों से मिलवाया

घटना दिल्ली के द्वारका (Dwarka) इलाके की है. इस बच्चे के बारे में ओडिशा कैडर के जिस आईपीएस अधिकारी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था उनका नाम अरुण बोथरा (Arun Bothra) है.

माता-पिता 13 साल के मासूम को विश्वास कर जिसके पास छोड़ गए थे, उसने लॉकडाउन (lockdown) में बच्चे को घर से बाहर निकाल दिया. बच्चा कई दिनों तक भूखा-प्यासा पार्क में दिन गुजारता रहा. कुत्तों को रोटी खिलाने पहुंची एक महिला की नजर जब बच्चे पर पड़ी तो मामले का भांडा फूट गया. फिलहाल ओडिशा पुलिस कैडर की मदद से अब बच्चा माता- पिता से मिल चुका है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

घटना दिल्ली के द्वारका (Dwarka) इलाके की है. इस बच्चे के बारे में ओडिशा कैडर (Odisha Cadre) के जिस आईपीएस अधिकारी ने अपने ट्विटर हैंडल (Twitter Handle) पर लिखा था उनका नाम अरुण बोथरा (Arun Bothra) है. अरुण बोथरा ने बताया कि बच्चा कई दिनों तक पार्क की बेंच पर ही लेटा-बैठा रहा. जब पार्क में कुत्तों को रोटी खिलाने जाने वाली महिला की नजर बच्चे पर पड़ी. इसके बाद से वह उसे खाना खिलाती रहीं.


उन्होंने बताया कि इसके बाद एक एनजीओ की और सोशल मीडिया की मदद ली गई. जिसमें कामयाबी मिल गई. जैसे ही परिवार को पता चला वो बच्चे से मिलने दिल्ली पहुंच गया. हालांकि, बच्चे का परिवार समस्तीपुर में था. किसी आईपीएस अधिकारी संजय ने बच्चे के परिवार को पटना पहुंचाने का इंतजाम किया. फिलहाल बच्चा और परिवार अब साथ साथ हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts