ओडिशा: जगन्नाथ मंदिर के 400 से अधिक पुजारी कोरोना संक्रमित, बंद रहेंगे धार्मिक स्थल

राज्य सरकार (State Government) की ओर से दायर हलफनामे के मुताबिक, अबतक जगन्नाथ मंदिर के 351 सेवादार और 53 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से कई पीड़ितों की मौत भी हुई है जिनमें टेंपल मैनेजमेंट कमिटी के सदस्य प्रेमानंद दशमोहापात्र भी शामिल हैं.

ओडिशा (Odisha) के पुरी (Puri) स्थित भगवान जगन्नाथ मंदिर (Jagannath Temple) के 400 से अधिक पुजारी और अधिकारी कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित हो चुके हैं. राज्य सरकार ने हाई कोर्ट को बताया है कि मौजूदा हालात को देखते हुए धार्मिक स्थलों को खोलने की तैयारी अभी नहीं है. कोरोना महामारी के चलते ये धार्मिक स्थल मार्च महीने से ही भक्तों के लिए बंद हैं.

राज्य सरकार ने एक पीआईएल पर ओडिशा हाई कोर्ट की ओर से जारी नोटिस का जवाब दिया. सरकार का कहना है कि ‘पुरी में जगन्नाथ मंदिर के गर्भगृह में पर्याप्त जगह नहीं है. ऐसे अगर भक्तों के लिए मंदिर को खोला गया तो कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ने की संभावना है.’

कोविड से उबरने के बाद अमित शाह ने नॉर्थ ब्लॉक में की पहली समीक्षा बैठक

कई पीड़ितों की हुई मौत

राज्य सरकार की ओर से दायर हलफनामे के मुताबिक, अबतक जगन्नाथ मंदिर के 351 सेवादार और 53 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से कई पीड़ितों की मौत भी हुई है जिनमें टेंपल मैनेजमेंट कमिटी के सदस्य प्रेमानंद दशमोहापात्र भी शामिल हैं.

मंदिर खोलने से बिगड़ सकते हैं हालात

जैसे-जैसे मंदिर के सेवादार कोरोना से संक्रमित होते जा रहे हैं, वैसे ही भगवान के विभिन्न अनुष्ठानों की करने वालों की कमी होती जा रही है. एक पुजारी ने कहा, “कई महासर, दैतापति और पूजपांडस संक्रमित हुए हैं. बावजूद इसके मंदिर के सभी अनुष्ठान नियमीत रूप से जारी हैं. अगर मंदिर को लोगों के लिए खोल दिया जाएगा तो हालात और अधिक बिगड़ सकते हैं.”

कोरोना गाइडलाइंस का हो रहा पालन

अधिकारियों ने कहा कि वेंटिलेटर से लैस एक समर्पित एंबुलेंस सेवादारों के लिए प्रदान की जाएगी, जबकि दो टीमें यह सुनिश्चित करेंगी कि जो सेवक संक्रमित हुए हैं वे प्रभावी रूप से होम क्वारंटीन के दिशानिर्देशों का पालन करें. पुरी जिला प्रशासन मंदिर के आसपास के क्षेत्र में हर किसी के लिए मास्क अनिवार्य करके कोविड-19 के दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू करेगा.

कोरोनावायरस वैक्सीन Tracker: कब तक आएगा टीका? इलाहाबाद हाई कोर्ट ने केंद्र से पूछा

Related Posts