BJP को दोबारा सत्‍ता तक पहुंचाने में इन तीन नेताओं का अहम रोल, पार्टी दे सकती है प्रमोशन

इन तीन नेताओं ने पार्टी नेतृत्‍व के सामने सियासी कौशल दिखाया जिसकी बदौलत बीजेपी में उनका कद बढ़ सकता है.

जितेश जेठानंदनी

लोकसभा चुनाव में हार के बाद जहां कांग्रेस में इस्‍तीफों का दौर चल रहा है, वहीं BJP में प्रमोशन की तैयारियां शुरू हो रही हैं. राजस्‍थान से आने वाले बीजेपी के तीन धुरंधरों ने पर्दे के पीछे रहते हुए ऐसी बिसात बिछाई कि कमल खिल गया. इन तीन नेताओं ने पार्टी नेतृत्‍व के सामने सियासी कौशल दिखाया जिसकी बदौलत बीजेपी में उनका कद बढ़ सकता है.

ओम प्रकाश माथुर

भाजपा के राष्टीय उपाध्यक्ष और राजस्थान से राज्यसभा सांसद ने गुजरात और मध्‍य प्रदेश में पार्टी का गणित संभाला. वह 2017 में उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी की जीत की रणनीति बनाने वालों में शामिल थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ लंबे समय तक RSS में रहे माथुर को उनका करीबी माना जाता है.

भूपेन्द्र यादव

भूपेन्द्र यादव भी राजस्थान से राज्यसभा सांसद है. बिहार में एनडीए को मिली जीत के सूत्रधार रहे. राष्टीय महासचिव का पद संभालने वाले भूपेन्द्र यादव को पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह का सबसे खास माना जाता है. यादव ने बिहार में गठबंधन पॉलटिक्स को सफल बनाया. वह इससे पहले गुजरात में अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर चुके है. झारखंड में भी उन्‍होंने BJP की सरकार बनवाई थी. यादव को सोशल इंजीनियरिंग का माहिर माना जाता है.

सुनील बंसल

सुनील बंसल ने उत्‍तर प्रदेश विधानसभा और लोकसभा में पार्टी की जीत में अहम भूमिका निभाई है. अमित शाह और संघ के करीबी नेता हैं. यूपी से बंसल की सियासत में पहचान बनी. वह आखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में बतौर राष्ट्रीय संगठन महामंत्री के रूप में काम कर चुके हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय सहित कई विश्वविद्यालयों में भगवा फहराने में उनका उनका अहम योगदान रहा है.

सूत्रों के हवाले से यह कहा जा रहा है कि पार्टी में इन तीनों का कद बढ़ सकता है. आने वाले समय में महाराष्‍ट्र और पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में वहां की जिम्‍मेदारी भी इन तीनों लोगों में किसी को दी जा सकती है. भूपेन्‍द्र यादव और सुनील बंसल में से कोई एक जेपी नड्डा के बीजेपी अध्‍यक्ष न बनने की सूरत में पार्टी के शीर्ष पद पर भी काबिज कराया जा सकता है.

ये भी पढ़ें

शपथ लेते वक्त इन मंत्रियों ने की गलती, राष्ट्रपति कोविंद को कराना पड़ा सुधार

नरेंद्र मोदी ने 57 मंत्रियों संग ली शपथ, जानें मंत्रिमंडल में कौन-कौन