ईडी का ओमप्रकाश चौटाला पर बड़ा एक्शन, पुश्तैनी फार्म हाउस और पंचकूला कोठी की अटैच

ईडी टीम ने पूरे फॉर्म हाउस को खंगाला. इस दौरान न किसी को बाहर जाने दिया गया, न अंदर आने दिया गया.

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और इनेलो प्रमुख ओम प्रकाश चौटाला की तेजाखेड़ा स्थित फार्म हाउस में बनी पुश्तैनी कोठी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अटैच कर लिया है. साथ ही ईडी अफसरों ने फॉर्म हाउस के बाहर एक बोर्ड भी लगा दिया है, जिस पर लिखा है- अब यह प्रॉपर्टी ईडी की है.

रिपोर्ट के मुताबिक, चंडीगढ़ जोन की ईडी टीम थी, जो सीआरपीएफ की गाड़ियों में आई थी. टीम ने पूरे फार्म हाउस को खंगाला. इस दौरान न किसी को बाहर जाने दिया गया, न अंदर आने दिया गया. एक किलोमीटर के एरिया में सीआरपीएफ भी तैनात की गई थी.

चौटाला परिवार का यह फार्म हाउस सिरसा जिले के डबवाली में स्थित है. पूर्व सीएम देवीलाल इस फॉर्म हाउस में रहा करते थे. इसके बाद पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला यहां रहने आए. फिलहाल अभय सिंह चौटाला इसमें रहते हैं.


ओम प्रकाश चौटाला जेबीटी भर्ती घोटाले में 10 साल की सजा काट रहे हैं. इन दिनों वे दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं. वे करीब 7 साल की सजा जेल में काट चुके हैं. उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट में न्यायाधीश मनमोहन और न्यायाधीश संगीता ढींगरा सहगल की खंडपीठ के समक्ष रिहाई के लिए याचिका दायर की हुई है.

चौटाला ने याचिका में कहा है कि बढ़ती उम्र के मद्देनजर केंद्र सरकार की ओर से तय नए नियमों के मापदंड को वह पूरा करते हैं. इसलिए उन्हें अब रिहा कर दिया जाना चाहिए.

मालूम हो कि ओमप्रकाश चौटाला राज्य के डिप्टी सीएम दुष्यंत के दादा हैं. ओमप्रकाश चौटाला और उनके बेटे अजय चौटाला शिक्षक भर्ती घोटाले में 10 साल की सजा काट रहे हैं. ओमप्रकाश चौटाला पर आय से अधिक संपत्ति का मामला भी दर्ज है.

कांग्रेस नेता शमशेर सिंह सुरजेवाला की शिकायत पर चौटाला और उनके बेटे के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मुकदमा दर्ज किया गया था. 26 मार्च 2010 को सीबीआई ने चौटाला के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर, 6.09 करोड़ रुपये की कथित संपत्ति होने की बात कही थी.

ये भी पढ़ें-

प्रज्ञा ठाकुर के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन, लाठी-डंडों के साथ कार्यालय के बाहर डटे रहे BJP कार्यकर्ता

चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा को राहत, इलाहाबाद हाईकोर्ट से मिली जमानत

ED ने हुड्डा पर कसा शिकंजा, जमीन घोटाला मामले में 4 घंटे तक की पूछताछ