केरल में गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में बड़ी कामयाबी, एक आरोपी गिरफ्तार

हथिनी के पोस्टमार्टम में से पता चला है कि पटाखों से भरा अनानास (Pineapple) खिलाए जाने के चलते हथिनी के मुंह में विस्‍फोट हुआ, जिसके चलते उसके काफी घाव हो गए थे. बेहद गहरे घावों की वजह से हथिनी कुछ खा भी नहीं पा रही थी.
pregnant elephant death in palakkad, केरल में गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में बड़ी कामयाबी, एक आरोपी गिरफ्तार

केरल (Kerala) में गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. इसकी जानकारी केरल फॉरेस्ट मिनिस्टर के. राजू द्वारा दी गई है. पल्लाकड़ में गांव के लोगों ने गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया थी, जिसके कारण उसकी मौत हो गई.

इस घटना ने मानवता को शर्मसार किया है. कई लोग हथिनी की इस तरह निर्मम हत्या करने के विरोध में आवाज उठा रहे हैं. वहीं हैदाराबाद के रहने वाले एक व्यक्ति ने हथिनी के कातिलों को पता लगाने वालों को 2 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की. इस व्यक्ति का कहना है कि इस प्रकार की अमानवीय घटना को स्वीकार नहीं किया जा सकता. जो भी हथिनी की हत्या करने वालों का पता बताएंगे उन्हें मैं दो लाख रुपये दूंगा.

पटाखे भरकर खिला दिया अनानास

हथिनी के पोस्टमार्टम में से पता चला है कि पटाखों से भरा अनानास (Pineapple) खिलाए जाने के चलते हथिनी के मुंह में विस्‍फोट हुआ, जिसके चलते उसके काफी घाव हो गए थे. बेहद गहरे घावों की वजह से हथिनी कुछ खा भी नहीं पा रही थी, जिस कारण कमजोरी की वजह से वह पानी में गिरकर डूब गई. पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि पानी में डूबने के कारण हथिनी के फेफड़ों (Lungs) में पानी भर गया था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

उधर, इस मामले की जांच में अब भी अब तेजी आई है और वन विभाग ने एक को कस्‍टडी में लेकर इस संबंध में पूछताछ शुरू कर दी है. हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिलाए जाने के इस संबंध में अभी तक कुल तीन लोग संदेह के घेरे में हैं.केरल के चीफ वाइल्डलाइफ वार्डन सुरेंद्र कुमार का कहना है कि इस बात पर यकीन करना मुश्किल है कि किसी ने उसे जानबूझ कर पटाखे से भरा अन्नानास खिलाया होगा, लेकिन जांच चल रही है.

सुरेंद्र कुमार ने कहा कि एक जंगली हाथी के करीब जाकर उसे कुछ खिलाने की हिम्मत कोई नहीं करता. उन्होंने यह भी बताया कि हथिनी की मौत पलक्कड़ (Palakkad) जिले में हुई थी ना कि मल्लपुरम (Mallapuram). स्थानीय लोगों ने उसे 23 मई को देखा था, जिसके बाद वह वापस जंगल में चली गयी थी. 25 मई को गांव में हथिनी आ गयी थी और फिर पूरा दिन पानी में खड़े होने के बाद 27 मई को उसकी मौत हो गयी थी.

इस घटना पर तुरंत एक्शन लेते हुए 28 मई को केस रजिस्टर किया गया था. सुरेंद्र कुमार ने कहा कि हमने कुछ लोगों से इस बारे में पूछताछ की है पर अब तक ऐसा कोई सबूत नहीं मिला जो इस बात की ओर इशारा करे कि हथिनी को किसी ने जानबूझ कर पटाखे से भरा अनानास  खिलाया था. घटना के सोशल मीडिया में तूल पकड़ने के बाद केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) ने कहा कि हथिनी की मौत के मामले में जांच शुरू कर दी गयी है, दोषी पाए गए लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts