‘एक राष्ट्र-एक चुनाव’ पर PM मोदी की बैठक जारी, नहीं पहुंचीं 14 पार्टियां

इस बैठक में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, तेलुगू देशम पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल शामिल नहीं हुईं.

नई दिल्ली: ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई बैठक बुधवार को शुरू हुई. 14 मुख्य दल इसमें शामिल नहीं हुए. शामिल न होने वाले दलों में एनडीए में शामिल शिवसेना भी है.

भाजपा के अलावा बैठक में अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार, जनता दल-युनाइटेड के नेता नीतीश कुमार, बीजू जनता दल के अध्यक्ष नवीन पटनायक, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के प्रमुख वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी, भाकपा के डी.राजा और एस सुधाकर रेड्डी, माकपा के सीताराम येचुरी, टीआरएस अध्यक्ष के.टी. रामाराव, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती और नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला शामिल हुए.

एक देश-एक चुनाव पर चल रही पीएम मोदी की बैठक में 14 पार्टियां नहीं पहुंची है. एनडीए की सहयोगी रही शिवसेना भी इस बैठक में नहीं पहुंची है. ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने एक देश-एक चुनाव का समर्थन किया है, जबकि सीपीएम, समाजवादी पार्टी ने इसका विरोध किया है. मीटिंग में नहीं पहुंचने वाली पार्टियों में कांग्रेस, टीएमसी, टीडीपी, आम आदमी पार्टी, एआईएडीएमके, डीएमके, एसपी, बीएसपी, शिवसेना, आरजेडी, जेडीएस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, एआईयूडीएफ और आईयूएमएल शामिल हैं.

इस बैठक में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, तेलुगू देशम पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल शामिल नहीं हुईं. प्रधानमंत्री ने पूरे देश में एकसाथ चुनाव कराने की अपनी पहल के लिए और नीति आयोग के 28 राज्यों के 117 जिलों में सामाजिक-आर्थिक विकास को गति देने के प्रस्ताव के लिए यह बैठक बुलाई है.
सरकार ने बैठक के लिए संसद में प्रतिनिधित्व कर रहे सभी दलों के प्रमुखों को आमंत्रित किया था. बैठक में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अमित शाह, नितिन गडकरी, जे.पी. नड्डा और प्रह्लाद जोशी समेत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सहयोगियों ने शिरकत की.