‘जुमला ही फेंकता रहा 5 साल की सरकार में’, रडार वाले बयान पर पीएम मोदी की फजीहत

पीएम मोदी के इस रडार वाले बयान पर न केवल आम ट्विटर यूजर्स चुटकी ले रहे हैं बल्कि विपक्षी राजनीतिक पार्टियां और अन्य नामचीन हस्तियां भी पीएम को खूब ट्रोल कर रही हैं.

नई दिल्ली: हाल ही में एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडियन एयरफोर्स की बालाकोट एयर स्ट्राइक को लेकर कुछ ऐसा कह गए, जिसके बाद ट्विटर पर लोग उन्हें ट्रोल करते हुए उनकी फिरकी ले रहे हैं.

इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा था, “वायुसेना को जिस दिन एयरस्ट्राइक करनी थी, उस दिन मौसम काफी खराब था. विशेषज्ञों ने सलाह दी की कि एयर स्ट्राइक किसी और दिन करनी चाहिए. इससे मन में दो सवाए उठे. एक ये कि देरी के कारण गोपनीयता भंग हो सकती है और दूसरा ये कि इतने बादल हैं, बारिश भी हो रही है तो हम रडार (रेडार) से बच सकते हैं और इसका फायदा हमें मिल सकता है. इसपर काफी सोच-विचार करने के बाद आखिरकार एयर स्ट्राइक का फैसला किया गया.”

पीएम मोदी के इस रडार वाले बयान पर न केवल आम ट्विटर यूजर्स चुटकी ले रहे हैं बल्कि विपक्षी राजनीतिक पार्टियां और अन्य नामचीन हस्तियां भी पीएम को खूब ट्रोल कर रही हैं.

नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पीएम के रडार वाले बयान पर ट्वीट किया, “पाकिस्तानी रडार बादलों में नहीं घुसते. यह सामरिक जानकारी का एक महत्वपूर्ण टुकड़ा है जो कि भविष्य के हवाई हमलों की योजना बनाते समय महत्वपूर्ण होगा.”

कांंग्रेस ने लिखा, “जुमला ही फेंकता रहा पांच साल की सरकार में, सोचा था क्लाउडी है मौसम, नहीं आऊंगा रडार में.”

वहीं पीएम को ट्रोल करने में हाल ही में बीजेपी का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थामने वाले नेता उदित राज भी पीछे नहीं रहे. उदित राज ने लिखा, “मोदी जी पैदा हुए सामान्य वर्ग में, सीएम बने तो पिछड़ा वर्ग में शामिल हो गए और अब अति पिछला वर्ग हो गए हैं. अब देखना है दलित कब बनते हैं. कभी कहते हैं कि सिकंदर बिहार मेें आया था और अब कह रहे हैैं कि बादल होने से जहाज रडार पर नहीं पकड़ में आता, इसलिए उसी समय एयर स्ट्राइक किया.”

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तो लगातार पीएम पर हमलावार हैं. अब उनके रडार वाले बयान पर तेजस्वी ने उन्हें घेरते हुए लिखा, “रडार से बचने के लिए बादलों के बीचों-बीच बक्सर के असली गरीब चाय वाले की चाय पी रहा हूं. बादलों में रड़ार से बचने की अद्भुत, अकल्पनीय, अविश्वसनीय और अतुलनीय खोज करने वाले महान राजनीतिक आविष्कारक को जय भीम, जय मंडल, जय बहुजन, जय हिंद और जय भारत के नारे के साथ प्रेम भरा सलाम ठोंकता हूं.”

इसी तरह कई राजनेताओं और लोगों ने पीएम नरेंद्र मोदी के रडार वाले बयान पर उनकी चुटकी लेते हुए तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दी.

 

हालांकि लोगों की ओर से पीएम की ट्रोलिंग के बाद भारतीय जनता पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से उनके इंटरव्यू में रडार पर दिए गए बयान वाले ट्वीट को भी हटा दिया है.