देशभर में पुलिस के साढ़े पांच लाख पद खाली, यूपी में सबसे ज्यादा

पश्चिम बंगाल में 1,40,904 पुलिसकर्मियों की जरूरत है, मगर 48,981 पोस्‍ट्स खाली हैं. दिल्‍ली की पुलिस फोर्स में 11,819 पद खाली हैं.

नई दिल्‍ली: देश में कायदे से 24,84,170 पुलिसकर्मी होने चाहिए, मगर हैं केवल 19,41,473. 1 जनवरी, 2018 को पुलिस के 5.43 लाख पद खाली पड़े थे. सबसे ज्‍यादा वैकेंसी उत्‍तर प्रदेश में थी, जहां 1.29 लाख पद खाली थे. देश में सिर्फ नगालैंड ऐसा राज्‍य हैं जहां जितने पुलिसकर्मी होने चाहिए, उससे ज्‍यादा हैं.

यह डेटा ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ने कंपाइल किया है. 1 जनवरी 2017 को देश में पुलिसकर्मियों के 5.38 लाख पद खाली थे. हालांकि इससे पहले, 1 जनवरी 2016 को 5.49 लाख पद खाली पड़े थे. डेटा के मुताबिक, 2016 में देश को 22,80,691 पुलिसकर्मियों की जरूरत थी, जबकि 2017 में 24,64,484 और 2018 में 24,84,170 पद खाली रहे.

देश के सबसे बड़े सूबे उत्‍तर प्रदेश में पुलिस के 4,14,492 स्‍वीकृत पद हैं, मगर इनमें से 1,28,952 खाली पड़े हैं. बिहार में 1,28,286 स्‍वीकृत पदों के मुकाबले 77,995 पद ही भरे गए हैं. पश्चिम बंगाल में 1,40,904 पुलिसकर्मियों की जरूरत है, मगर 48,981 पोस्‍ट्स खाली हैं.

राजधानी होने के बावजूद, दिल्‍ली की पुलिस फोर्स में 11,819 पद खाली हैं. दिल्‍ली में आंध्र प्रदेश, झारखंड, हरियाणा, तेलंगाना, केरल और ओडिशा जैसे राज्‍यों भी ज्‍यादा पुलिस के पद स्‍वीकृत हैं.

नगालैंड देश का इकलौता पुलिस सरप्‍लस राज्‍य है. यहां 21,292 स्‍वीकृत पद हैं, मगर उससे 941 पुलिसकर्मी ज्‍यादा हैं. नक्‍सल प्रभावित छत्‍तीसगढ़ में भी 11,916 पद खाली पड़े हैं. आतंकवाद से त्रस्‍त जम्‍मू-कश्‍मीर में पुलिस ने 10,044 पद खाली हैं.

ये भी पढ़ें

यूपी: पत्नी ने शारीरिक संबंध बनाने से किया इनकार, पति ने की हत्या, फिर काट डाला अपना गुप्तांग

जन्म देने वाले ही बन गए हत्यारे, 16 साल की बेटी को मां-बाप ने मारा फिर गंगा में दिया फेंक