राहुल के इस्तीफे पर भावुक हुए चिदंबरम, कहा- सुसाइड कर लेंगे कार्यकर्ता

पी चिदंबरम ने कहा कि पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं ने राहुल गांधी के नेतृत्व पर भरोसा जताया और उनसे पद पर बने रहने की अपील की.

नई दिल्ली: पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश पर भावुक हो गए. राहुल के इस्तीफे पर अड़ने के बाद उनकी आंखों में आंसू आ गए. उन्होंने राहुल से पार्टी प्रमुख पद से इस्तीफा न देने की अपील की. पी चिदंबरम ने कहा कि राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने से दक्षिण भारत के कांग्रेस कार्यकर्ता आत्महत्या कर लेंगे. उन्होंने शनिवार को हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की मीटिंग के दौरान ये बात कही.

पी चिदंबरम ने कहा कि पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं ने राहुल गांधी के नेतृत्व पर भरोसा जताया और राहुल गांधी से पद पर बने रहने की अपील की. वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से खबर है कि राहुल गांधी अपने पद से इस्तीफा देने को लेकर अड़े हुए हैं.

तनाव में दिखे कांग्रेस नेता
गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन की समीक्षा के लिए आयोजित सीडब्ल्यूसी की बैठक में शामिल नेता बैठक समाप्त होने के बाद तनाव में दिखे. पार्टी की शीर्ष निर्णय लेने वाली इकाई की 24 अकबर रोड पर बैठक हुई. इस दौरान मीडिया में कई तरह के कयास लगाए जाने लगे, जिसमें से एक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे की अटकलों ने भी जोर पकड़ लिया था.

पार्टी ने लोकसभा चुनाव में अपने खराब प्रदर्शन पर चार घंटे तक मंत्रणा की. सीडब्ल्यूसी के 23 सदस्यों में से किसी ने भी मीडिया से बातचीत नहीं की. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, उनकी बहन व पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बैठक समाप्त होने के तुरंत बाद कार्यालय से चले गए.

सुरजेवाला का इस्तीफे की बात से इनकार
पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी बैठक के बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. हालांकि बैठक से बाहर आने के बाद उनके चेहरे तनावपूर्ण दिखे. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पूरे मीडिया में इस्तीफे की खबर फैलने के कुछ ही मिनटों बाद पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने स्पष्ट किया कि इस मामले में कोई सच्चाई नहीं है और यह गलत खबर है.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, वरिष्ठ पार्टी नेता अहमद पटेल, गुलाम नबी आजाद, मातीलाल वोरा, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने भी बैठक के बारे में कुछ भी जानकारी साझा करने से इनकार कर दिया.

ये भी पढ़ें-

स्मृति ईरानी के करीबी पूर्व प्रधान की अमेठी में गोली मारकर हत्या, जीत का जश्न मना लौटे थे घर

जरूरत पड़ी तो समुद्र में डुबो देंगे अमेरिकी जहाज, ईरान ने दी चेतावनी

पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने सांप्रदायिक जहर फैलाकर हासिल की जीत: ममता बनर्जी