P Chidambaram ने वकील के तौर पर सुप्रीम कोर्ट में की वापसी, 106 दिन तिहाड़ जेल में थे बंद

खास बात ये है कि पी चिदंबरम के प्रतिपक्ष में कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी सुप्रीम कोर्ट में खड़े थे.

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम वरिष्ठ वकील भी हैं. आईएनएक्स मीडिया मामले में जमानत मिलने के बाद पहली बार वे बतौर वकील सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए. वकील पी चिदंबरम ने घरेलू हिंसा और तलाक मामले में सुप्रीम कोर्ट बहस की.

मुंबई के बिजनेसमैन जयदेव शेरोफ और पूनम भगत में मामले में पी चिदंबरम ने बहस की. सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई टल गई है. खास बात ये है कि कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी प्रतिपक्ष से वकील के तौर पर पेश हुए.

बता दें कि पी चिदंबरम पहले सीबीआई और फिर ईडी द्वारा गिरफ्तार होने के बाद 106 दिनों तक तिहाड़ जेल में बंद थे. कुछ ही दिन पहले उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने दो लाख रुपए के निजी मुचलके और बिना अनुमति विदेश न जाने की शर्त पर जमानत दी है. इसके अलावा उन्हें इस मामले में मीडिया में कोई साक्षात्कार नहीं देने का आदेश भी दिया गया है.

ये भी पढ़ें:

छह दशक पुराने आर्म्स एक्ट में हो रहा है ये बड़ा बदलाव, जानें- आर्म्स अमेंडमेंट बिल की 10 प्रमुख बातें
उन्नाव केसः गैंगरेप के दिन आरोपी के अस्पताल में भर्ती होने का दावा, डॉक्टर बोले- मेडिकल स्लिप फर्जी