कुलभूषण जाधव केस: पाकिस्तान की बड़ी हार, ICJ ने कहा- वियना संधि का हुआ उल्लंघन

आईसीजे ने कहा कि पाकिस्तान ने वियना संधि के अनुच्छेद 36 के तहत अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं किया.

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) ने कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई है. 193 देशों की सदस्यता वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा में ICJ के प्रेजिडेंट जज अब्दुलकावी यूसुफ ने कहा है कि पाकिस्तान ने वियना संधि के नियम तोड़े हैं.

युसूफ ने कहा कि पाकिस्तान ने वियना संधि के अनुच्छेद 36 के तहत अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं किया. पूरे मामले में आवश्यक कार्यवाही भी नहीं की गई.

‘PAK को देना चाहिए था काउंसलर एक्सेस’ 
उन्होंने कहा कि वियना संधि में कहीं भी इस बात जिक्र नहीं है कि जासूसी के आरोप का सामना कर रहे शख्स को काउंसलर एक्सेस नहीं दिया जाएगा. कोर्ट ने कहा कि इसलिए पाकिस्तान को हर हाल में कुलभूषण जाधव मामले में काउंसलर एक्सेस देना चाहिए था, जो उसने नहीं दिया.

कोर्ट ने साफ-साफ कहा का वियाना संधि के मुताबिक दोनों देशों के बीच समझौता न हो पाने के बाद भी गिरफ्तार व्यक्ति को काउसंलर एक्सेस मिलना चाहिए. अगर ऐसा नहीं होता है तो यह अनुच्छेद 36 का उल्लंघन है.


भारत पहले से कहता रहा है ये बात
बता दें कि भारत लगातार कहता रहा है कि पाकिस्तान ने वियना संधि का उल्लंघन किया है. इससे पहले जब इस मामले की सुनवाई के दौरान पाकिस्तान की ओर से जाधव की दी गई फांसी की सजा को समीक्षा करने की बात कही थी.

गौरतलब है कि 12 सितंबर को भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया था कि भारत कुलभूषण जाधव मामले पर फिर से इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) जाएगा. उन्होंने कहा था हम कोशिश करेंगे कि आईसीजे की फुल इंप्लीमेंटेशन हो.

पाकिस्तान ने गत 12 सितंबर को कुलभूषण जाधव को दूसरा कॉन्सुलर एक्सेस देने से इनकार कर दिया था. इसके बारे में पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैसल ने कहा था कि कुलभूषण जाधव को दूसरी बार कॉन्सुलर एक्सेस नहीं दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-

‘चिदंबरम का 7 किलो घट गया है वजन, कैंसर होने का खतरा’, दिल्ली HC ने AIIMS से मांगी मेडिकल रिपोर्ट

गहलोत के नहले पर दहला मार गए राजस्‍थान बीजेपी के अध्‍यक्ष, जानें कैसे

‘शिवसेना कोई बच्‍चा नहीं, सबके विकल्‍प खुले’, संजय राउत ने फिर BJP को ललकारा