ट्रंप-मोदी की दोस्ती से खिसियाए इमरान, कहा- अगर परमाणु युद्ध हुआ तो पूरी दुनिया का होगा नुकसान

इमरान खान ने कहा कि मैं यूएन के जनरल असेंबली में 27 सितंबर को कश्मीर मुद्दे पर चर्चा करूंगा. वैश्विक मंच पर कश्मी मामले को उठाऊंगा.

इस्लामाबाद: कश्मीर मसले पर पूरी दुनिया पर थू-थू करा चुका पाकिस्तान अब भी बाज नहीं आ रहा. जी-7 समिट में मोदी-ट्रंप की मुलाकात हुई. मुलाकात के बाद दोनों नेताओं ने साझा प्रेसवार्ता की. इस वार्ता में पीएम मोदी ने साफ किया कि कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय है इसमें हम तीसरे देश को कष्ट नहीं देंगे.

इस बयान को सुनने के बाद पाक का निजाम पूरी तरह से बौखला गया है. इमरान खान ने कहा कि कश्मीर पर अब फैसले का वक्त आ गया है. कश्मीर पर भारत से बात की तो, आतंकवाद का आरोप लगा दिया गया. उन्होंने कहा कि कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाकर भारत ने बहुत बड़ी गलती की है. उन्होंने कहा कि भारत हम पर आतंकवाद फैलाने का आरोप लगाने का मौका ढ़ूंढता रहता है.

जम्मू-कश्मीर पर रोया पाक
जम्मू एवं कश्मीर (Jammu and Kashmir) को मिले विशेष दर्जे (Article 370) को खत्म करने के मोदी सरकार के फैसले से परेशान पाकिस्तान (Pakistan) दुनियाभर में पहले ही हल्ला मचा चुका है, लेकिन, पाकिस्तान को हर जगह से मुंह की खानी पड़ रही है.

इमरान की गीदड़भभकी
इमरान खान ने राष्ट्र को संबोधितक करते हुए कहा कि आज हम कश्मीर को लेकर आपसे बात करेंगे. उन्होंने कहा कि हम एक ऐसे मंच पर आ गए हैं जहां निर्णय लेने की जरूरत है कि कश्मीर पर क्या किया जाना चाहिए. इमरान खान ने भारत को कश्मीर मुद्दे पर न्यूक्लियर हमले की गीदड़भभकी देते हुए कहा हम कश्मीर के लिए हर हद तक जाएंगे. हमने कश्मीर मामले का अंतरराष्ट्रीयकरण किया है.

वैश्विक स्तर पर उठाने की धमकी
इमरान खान ने कहा कि मैं यूएन के जनरल असेंबली में 27 सितंबर को कश्मीर मुद्दे पर चर्चा करूंगा. वैश्विक मंच पर कश्मीर मामले को उठाऊंगा. इमरान खान ने आरएसएस पर भी हमला बोलते हुए उसकी तुलना दुनिया के तमाम कट्टरपंथी संगठनों से कर दी. परेशान इमरान खान ने कहा कि हम कश्मीर के आवाम के साथ है.

इमरान खान ने किया गांधी-नेहरू का जिक्र
इमरान खान ने कहा कि 5 अगस्त को कश्मीर पर लिया गया फैसला जवाहर लाल नेहरू के कश्मीरियों के साथ किए गए वादे से मुकर जाना है. इमरान खान ने कहा कि कश्मीर पर नरेंद्र मोदी ने बड़ी गलती कर दी है. यह कश्मीरियों के लिए आजादी लेने का ऐतिहासिक अवसर है. इमरान खान ने गीदड़भभकी देते हुए कहा कि हम दोनों के पास परमाणु हथियार हैं, अगर यह मामला युद्ध तक जाता है, तो विश्व भी प्रभावित होगा. अगर हमारे बीच लड़ाई होती है, तो इसके लिए विश्व भी जिम्मेदार है.

27 दिसंबर को न्यूयॉर्क उठाऊंगा मुद्दा- इमरान
इमरान ने कहा, “सबसे पहले मैं दुनिया को कश्मीर के हालात को बताऊंगा. जिन राष्ट्राध्यक्षों से मेरी बात हुई है, उन्हें मैंने आगाह किया है. 27 सितंबर को न्यूयॉर्क में यूएन में भी पूरी दुनिया को कश्मीर के बारे में बताऊंगा. हम दुनिया के हर फोरम पर बताएंगे कि 80 लाख कश्मीरियों के साथ किस तरह जुल्म हो रहा है.”

इमरान ने कहा, “दुनिया कश्मीर के साथ खड़ी हो या न हो, हमारी अवाम और हमारी सरकार उनके साथ खड़ी होगी. हम हर हफ्ते एक कार्यक्रम करेंगे, जिसमें हमारी पूरी अवाम निकलेगी. इस शुक्रवार 12 से 12.30 बजे तक आधा घंटा लोगों को बताएं कि कश्मीर में क्या हो रहा है और ये भी बताएं कि हम उनके साथ खड़े हैं. जब तक उन्हें आजादी नहीं मिलेगी हम उनके साथ खड़े रहेंगे. 27 सितंबर तक हफ्ते में एक बार हमें ये इवेंट करनी है.”