कुलभूषण जाधव को काउंसलर एक्सेस देने के लिए तैयार पाकिस्तान, भारत ने रखी ये शर्त

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव को सोमवार को काउंसलर संबंधों पर वियाना कन्वेंशन, इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के फैसले और पाकिस्तान के कानूनों के अनुरूप प्रदान काउंसलर एक्सेस दिया जाएगा.

नई दिल्ली: भारत-पाक रिश्ते इस वक्त तल्ख चल रहे हैं उसी बीच एक सकारात्मक खबर आई है. पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को काउंसलर एक्सेस देने का प्रस्ताव दिया है. पाक ने सोमवार तक काउंसलर एक्सेस देने का प्रस्ताव दिया है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव को सोमवार को काउंसलर संबंधों पर वियाना कन्वेंशन, इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के फैसले और पाकिस्तान के कानूनों के अनुरूप प्रदान काउंसलर एक्सेस दिया जाएगा. पाकिस्तान के इस प्रस्ताव पर भारत ने अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा कि भारत चाहता है कि जाधव को बिना किसी निगरानी के काउंसलर एक्सेस मिले.

कुलभूषण जाधव को दूतावास मदद की इजाजत देने के पाकिस्तान के वादे के करीब 6 हफ्ते बाद इस्लामाबाद की ओर से गुरुवार को कहा गया था कि इस मुद्दे पर वह भारत से संपर्क में है. गौरतलब है कि एक अगस्त को पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा था कि फांसी की सजा का सामना कर रहे भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव को अगले दिन दूतावास मदद मुहैया कराई जाएगी.

कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद के आरोप में अप्रैल 2017 में मौत की सजा सुनाई थी. इसके बाद भारत ने हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) का रुख कर सजा पर रोक लगाने की मांग की थी. आईसीजे ने 17 जुलाई को पाकिस्तान को जाधव की दोषसिद्धि और सजा की प्रभावी समीक्षा एवं पुनर्विचार करने का आदेश दिया था. साथ ही, बगैर और देर किए उन्हें दूतावास मदद पहुंचाने को भी कहा था.