पाकिस्तान जिस वीडियो को दिखा बघार रहा शान…उसी में दिखा उसका फिसड्डी चेहरा

पाकिस्तान के न्यूज चैनल ने एक वीडियो जारी किया जिसमें ये दावा किया जा रहा है कि शव उठाने वाला सिपाही भारतीय है...हालांकि शव भी उन्ही के हैं और सफेद झंडा दिखा कर उन्हें उठाने वाला सिपाही भी.

यूं तो पाकिस्तान समय-समय पर अपनी फर्जी शान के लिए साजिशें रचता रहता है और अक्सर उसकी ये झूठी साजिशें बेनकाब होती रहती हैं. ऐसा ही एक मामला सामने आया रविवार को भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकी ठिकानों पर गोलीबारी के बाद. दरअसल पाकिस्तानी सोशल मीडिया के यूजर्स और एक टीवी न्यूज चैनल ने एक सैनिक का सफेद झंडा लहराते हुए शवों को इकट्ठा करते हुए का वीडियो शेयर किया.

ये वीडियो जमकर ट्वीटर, फेसबुक और यूट्यूब पर शेयर किया जा रहा है. वीडियो के साथ पाकिस्तानी नागरिक जमकर झूठी हुंकारें भर रहे हैं. साथ ही ये दावा भी किया जा रहा है कि शव उठाने वाला ये सैनिक भारतीय है. न सिर्फ पाकिस्तानी न्यूज चैनल बल्कि खुद पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने भी दावा किया कि भारतीय सेना ने सफेद झंडा दिखाते हुए अपने घायल सिपाहियों के शरीरों को उठाया है.

हालांकि जिस वीडियो को लेकर पाकिस्तान दावा कर रहा है कि शव उठाने वाला सिपाही भारतीय है, वो एक पुराना वीडियो है और जो सिपाही शव उठा रहा है वो भारतीय नहीं पाकिस्तानी है. पाकिस्तान की साजिशों की पोल खोलता ये वीडियो असल में सितंबर महीने में शूट किया गया था, जब पाकिस्तानी सिपाही सफेद झंडा दिखाकर घायल और मृत सिपाहीयों के शवों को उठाकर ले जा रहा था.

पाकिस्तान जिस वीडियो को लेकर फर्जी दावे कर रहा है, वह वीडियो 11 सितंबर को कश्मीर के हाजीपुर में भारतीय सेना द्वारा क्रॉस बॉर्डर फायरिंग के जवाबी कार्रवाई में घायल हुए पाकिस्तानी सैनिकों का है. जिसमें पाकिस्तानी जवान दो घायल सैनिकों को उठाकर ले जाते हुए दिख रहा है. मालूम हो कि भारत की आर्टिलरी फायरिंग से बौखलाए पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ झूठा माहौल तैयार करने का षडयंत्र रचा, लेकिन हर बार की तरह वह इसबार भी बेनकाब हो ही गया.

ये भी पढ़ें: टूरिस्ट के लिए खोला गया सियाचिन, राजनाथ सिंह ने किया ऐलान