फर्जी ट्विटर हैंडल के जरिए पाकिस्तान फैला रहा था घाटी में झूठी खबरें, ट्विटर ने किया ब्लॉक

सूत्रों ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आदेश पर ट्विटर ने इन चार दुर्भावनापूर्ण अकाउंट्स को बंद कर दिया है और साथ ही अन्य चार को निलंबित करने की तैयारी में है.

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के हालात को लेकर झूठी खबरें फैला रहे इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) और पाकिस्तानी सेना द्वारा चलाए जा रहे चार ट्विटर हैंडल को माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने मंगलवार को यह कहते हुए बंद कर दिया कि वह व्यक्तिगत अकाउंट्स को हटाने पर टिप्पणी नहीं करता. सूत्रों ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आदेश पर ट्विटर ने इन चार दुर्भावनापूर्ण अकाउंट्स को बंद कर दिया है और साथ ही अन्य चार को निलंबित करने की तैयारी में है.

यह ट्विटर अकाउंट्स घाटी के बाहर से संचालित किए जा रहे थे. निलंबित हुए इन खातों में सैयद अली शाह गिलानी का अकाउंट भी शामिल है. ट्विटर के एक प्रवक्ता ने कहा, “गोपनीयता और सुरक्षा कारणों से हम व्यक्तिगत खातों को हटाने पर टिप्पणी नहीं करते हैं. ट्विटर को किए गए कानूनी अनुरोध पर हमारी पारदर्शिता रिपोर्ट द्वि-वार्षिक रूप से प्रकाशित होती है.”

रिपोर्ट्स के आधार पर, हटाने के लिए भेजे गए अकाउंट्स की सूची में सैयद अली गिलानी, वॉइस ऑफ कश्मीर, मदीहा शकील खान, अरशद शरीफ, मैरी स्कली आदि शामिल हैं. पांच अगस्त को आर्टिकल 370 को रद्द किए जाने और जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के बाद से प्रदेश में लगे लॉकडॉउन को लेकर झूठी खबरें फैलाई जा रही थीं.

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने सोमवार को पाकिस्तानी पत्रकार द्वारा किए गए दुर्भावनापूर्ण ट्वीट को फर्जी करार दिया था, जिसमें यह दावा किया गया था कि फैसले के बाद सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के बीच एक कथित अनबन हुई है.

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने बताया कौन सा सबक सिखा कर गईं सुषमा स्वराज, बताया पूरा किस्सा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *