दुश्मनों की अब खैर नहीं, 33 नए लड़ाकू विमान खरीदने जा रही वायुसेना

12 अतिरिक्त सुखोई की खरीद से वायुसेना अपने 272 सुखोई-30 एमकेआइ विमानों के बेड़े को बरकरार रख पाएगी.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 7:11 am, Fri, 30 August 19

भारतीय वायुसेना ने अपने लड़ाकू दस्ते को और अधिक मजबूत बनाने के लिए 33 नए कॉम्बैट एयरक्राफ्ट खरीदने की योजना बनाई है. इनमें 21 मिग-29 और 12 सुखोई 30 विमान शामिल हैं. सरकार के सूत्रों के मुताबिक, भारतीय वायुसेना कुछ ही हफ्तों में होने वाली रक्षा मंत्रालय की बैठक में इसे लेकर प्रस्ताव रखेगी.

सूत्रों ने बताया है कि विभिन्न दुर्घटनाओं के चलते वायु सेना के पास लड़ाकू विमानों की संख्या कम हो गई है. इस कमी को दूर करने के लिए 12 सुखोई-30 एमकेआइ विमान खरीदने की योजना बनाई जा रही है.

272 सुखोई-30 विमानों की खरीद का ऑर्डर
इसके अलावा 12 अतिरिक्त सुखोई की खरीद से वायुसेना अपने 272 सुखोई-30 एमकेआइ विमानों के बेड़े को बरकरार रख पाएगी. भारत ने 272 सुखोई-30 विमानों की खरीद का ऑर्डर दिया है, जो 10-15 साल के दौरान मिलने हैं.

भारतीय वायु सेना जिन 21 मिग 29 विमानों की खरीद की बात कर रही है उन्हें रूस से मंगाया जाएगा. रूस ने भारत की नए फाइटर विमान की जरूरतों को देखते हुए ये विमान बेचने की इच्छा जताई थी.

लेटेस्ट अपग्रेडेड विमानों की होगी खरीदारी
योजना के मुताबिक, जो मिग 29 एस विमान दिए जाएंगे वह लेटेस्ट अपग्रेडेड विमान हैं जो पहले से ही भारतीय वायुसेना में इस्तेमाल किए जा रहे हैं. विमान में लगे राडार और अन्य उपकरणों में नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है.

नौसेना भी मिग-29 ‘K’ को उड़ाती है, लेकिन इसे लड़ाकू विमान का अनुभव बहुत अच्छा नहीं रहा है. लैंड करने के बाद इस लड़ाकू विमान की सेटिंग बदल जाती है. भारतीय वायुसेना में मिग-29 के तीन स्क्वॉड्रन हैं, जिनको समय-समय पर अपग्रेड किया जाता रहता है. वायुसेना के लिए इसे काफी उपयोगी विमान माना जाता है.

ये भी पढ़ें-

उत्तरी बंगाल को आतंक का गढ़ बनाने की फिराक में था भारत में JMB का मुखिया एजाज

मुकेश अंबानी ने दिल खोलकर की अमित शाह की तारीफ, बताया- सच्चा कर्मयोगी और लौह पुरुष

18 करोड़ पहुंची BJP कार्यकर्ताओं की संख्या, सिर्फ आठ देशों की जनसंख्या इससे ज्यादा: जेपी नड्डा