घाटी को रक्तरंजित करने के लिए पाक की नापाक चाल, लॉन्चिंग पैड सक्रिय, 300 आतंकी मौजूद

इन लॉन्चिंग पैड पर मौजूद करीब 300 आतंकी में से 50 अफगानी मूल के आतंकी शामिल हैं जो जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए हैं. भारतीय खुफिया एजेंसियों ने अपने तंत्र के जरिए पाकिस्तानी सेना की इस साजिश का पता लगाया है.

पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर में खून खराबा करने और भारतीय सेना पर हमले को अंजाम देने के लिए नापाक साजिश रच रहा है. सूत्रों के हवाले से पता चला है कि पाक सेना ने आतंकियों के करीब 50 लॉन्चिंग पैड फिर से सक्रिय किए हैं.

इन लॉन्चिंग पैड पर मौजूद करीब 300 आतंकी में से 50 अफगानी मूल के आतंकी शामिल हैं जो जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए हैं. भारतीय खुफिया एजेंसियों ने अपने तंत्र के जरिए पाकिस्तानी सेना की इस साजिश का पता लगाया है. खुफिया एजेंसी के मुताबिक इन लॉन्चिंग पैड में से अधिकांश उत्तरी कश्मीर नियंत्रण रेखा के पार गुलाम कश्मीर की नीलम वैली इलाके में है.

इन आतंकियों को पाकिस्तानी सेना और उसकी खुफिया एजेंसी के अधिकारियों ने ट्रेनिंग दी है. पाकिस्तानी सेना इन्हें भारतीय इलाकों में घुसपैठ कराने के लिए उचित मौका तलाश रही है. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक यह आतंकी 26 जनवरी के आसपास भारतीय क्षेत्र में दाखिल होना चाहते हैं.

हाल में चालू हुए लॉन्चिंग पैड में से अधिकांश नीलम वैली, लीपा वैली और टंगडार घाटी में हैं. इनमें से अधिकांश लॉन्चिंग पैड बीते साल फरवरी में भारतीय वायु सेना द्वारा किए गए बालाकोट हमले के बाद बंद हो गए थे. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जैश सरगना अजहर मसूद का भाई रऊफ असगर भारत में किसी बड़े हमले को अंजाम देना चाहता है. जिसके चलते रऊफ इन लॉन्चिंग पैड्स पर दो बार इन आतंकियों से मिलने भी गया.