बॉर्डर पर अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, दो बार भारतीय सीमा में भेजा ड्रोन

पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) ने भारतीय सीमा में एक ही दिन में 2 बार पाकिस्तानी ड्रोन (Pakistani Drone) भेजे. इन दोनों का मकसद भारतीय सीमा में मौजूद सेना के जवानों के बारे में पता करना था.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 1:08 pm, Tue, 16 June 20
File Pic

पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी ISI हर हालत में भारत में आतंक मचाना चाहती है. साथ ही सीमा पर मौजूद जवानों के बीच तनाव को बढ़ाना चाहती है. अपनी इसी साजिश के तहत पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सीमा (Indian border) में एक ही दिन में 2 बार पाकिस्तानी ड्रोन भेजे. इन दोनों का मकसद भारतीय सीमा में मौजूद सेना के जवानों के बारे में पता करना था.

इसके साथ ही ISI ने सीमा पर 5 से ज्यादा बैट एक्शन टीम भेजी हुई हैं. इन बेट एक्शन टीमों को सीमा पर अकेले मिलने वाले भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों की क्रूर तरीके से हत्या करने को कहा गया है. दस्तावेजों के मुताबिक 5 जून 2020 को सीमा पर रामगढ़ एरिया के पास एक सफेद कलर के ड्रोन को देखा गया.

यह ड्रोन सबसे पहले सीमा सुरक्षा बल के जवानों के नोटिस में आया. सीमा पर मौजूद संत्री ने इस  मामले में तुरंत पाकिस्तान रेंजर्स से अपना प्रतिरोध जाहिर किया. जिसके बाद यह ड्रोन पाकिस्तानी सीमा में वापस चला गया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

यह जगह मल्हार बताई जाती है जहां से अंतर्राष्ट्रीय सीमा पाकिस्तान की तरफ लगभग 200 मीटर और भारतीय चौकी 300 मीटर की दूरी पर मौजूद है. यह ड्रोन लगभग 25 से 30 फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था.

दूसरी घटना भी 5 जून 2020 की है. जहां रात को 8:45 पर आरएस पुरा के खमरिया इलाके में जवानों ने एक लाल रंग की बत्ती जलती बुझती देखी. जवानों को शक हुआ कि यह पाकिस्तानी यूएवी है जो आकाश में उड़ रहा है और भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहा है.

इस पर भारतीय सेना के जवानों ने 5 . 5 6 एमएम इंसास एलएमजी से 9 राउंड पाकिस्तानी यूएवी की तरफ फायर किए. जिसके बाद यूएवी वापस पाकिस्तानी सीमा में चला गया. जो अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगभग थोडी दूर बताई जाती है और और यह 500 मीटर की ऊंचाई पर उड़ रहा था.

खुफिया दस्तावेज यह भी बताते हैं कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पिछले 15 दिनों के दौरान सीमा पर अलग-अलग चौकियों के पास पांच से ज्यादा बैट एक्शन टीम  तैनात की हुई हैं. इस टीम में पाकिस्तानी सेना के कमांडो के अलावा कुख्यात आतंकवादी भी शामिल हैं जो छिपकर वार करने की कला में एक्सपर्ट हैं.