हम कानून से चलने वाले लोग हैं और किसी को जमानत मिलती है तो वो इंजॉय करे, पीएम मोदी का तंज

मैं चुनौती देता हूं कि 2004 से 2014 तक शासन में बैठे हुए लोगों ने कभी अटल जी की सरकार की तारीफ की हो. उनकी छोड़ों नरसिम्हा राव जी की सरकार की तारीफ की हो.- पीएम मोदी

नई दिल्ली: लोकसभा में मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार शाम को लोकसभा राष्ट्रपति के अभिभाषण पर दिया. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए बोला, “हमें इसलिए कोसा जा रहा है कि हमने फलाने को जेल में क्यों नहीं डाला. ये इमरजेंसी नहीं है कि किसी को भी जेल में डाल दिया जाए, ये लोकतंत्र है. ये काम न्यायपालिका है. हम कानून से चलने वाले लोग हैं और किसी को जमानत मिलती है तो वो इंजॉय करे. हम बदले की भावना से काम नहीं करेंगे.”

पीएम मोदी ने कहा, ‘हमें इसलिए कोसा जा रहा है कि हमने फलाने को जेल में क्यों नहीं डाला. ये इमरजेंसी नहीं है कि किसी को भी जेल में डाल दिया जाए, ये लोकतंत्र है. ये काम न्यायपालिका है. हम कानून से चलने वाले लोग हैं और किसी को जमानत मिलती है तो वो इंजॉय करे. हम बदले की भावना से काम नहीं करेंगे.’

पीएम मोदी ने कहा कहा कि हमारे देश में पर्यटन की बहुत संभावनाएं हैं. लेकिन हमने ही अपने देश के विषय में एक हीन भाव पैदा कर दी थी और उसी कारण विश्व के लोगों को हिंदुस्तान की तरफ आकर्षित करने में हम कम पड़ गए. उन्होंने कहा स्वच्छता अभियान ने अब पर्यटन को बल दिया है, जिससे भारत में रोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी.

पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार पर अपनी सरकार की कार्रवाई पर बोलते हुए कहा, ‘बिना किसी प्रतिशोध के भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई पूरी ईमानदारी और ईमानदारी के साथ जारी रहेगी. हमारा काम मामलों को निष्पक्ष रूप से आगे बढ़ाना है, दोषियों को दंडित करना या उन्हें जमानत देना न्यायपालिका का काम है. हम कानून के शासन का पालन करते हैं.’

पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला
मेक इन इंडिया का मजाक उड़कार कुछ लोगों को भले ही रात को अच्छी नींद आ जाए लेकिन इससे देश का भला तो नहीं हो पाएगा. मेक इन इंडिया का आगे बढ़ाना हमारी जिम्मेदारी है. हमारा सपना नया भारत बनाना है जिसके लिए मेक इन इंडिया जरूरी है. सरदार सरोवर बांध सरदार पटेल का सपना था. लेकिन इस डैम पर काम में देरी होती रही. गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में, मुझे इस परियोजना के लिए उपवास तक करना पड़ा था. NDA के सत्ता में आने के बाद इसके काम की गति में वृद्धि हुई और आज इससे लोगों को लाभ हो रहा है.

जल संकट पर बोले पीएम मोदी
हमने इस बार जल शक्ति मंत्रालय बनाया है. जल संकट को हमने गंभीरता से लेना होगा. जल संचय पर हमने पूरा ध्यान देना होगा. पानी बचाना है, ये काम करके हम सामान्य मानवी की जिंदगी को बचा सकते हैं. पानी का संकट दूर करके हम गरीबों और माताओं को बड़ी सहुलियत दे सकते हैं. पानी की तकलीफ राजस्थान और गुजरात के लोग ज्यादा जानते हैं और इसी वजह से हमने जल शक्ति मंत्रालय बनाया है. जल संचय पर हमें बल देना पड़ेगा न हीं तो जल संकट बढ़ता चला जाएगा.

इमरजेंसी को लेकर पीएम की स्पीच
हिंदुस्तान में पानी के संबंध में जितने भी initiative लिए गए थे, वो सारे काम बाबा साहब अंबेडकर ने किए थे. लेकिन जैसा मैंने पहले कहा शायद एक ऊंचाई पर जाने के बाद लोगों को दिखता नहीं है. आज 25 जून को हम लोकतंत्र के लिए प्रति हमारे समर्पण, संकल्प को और ताकत के साथ समर्पित करना होगा. जो-जो भी इस पाप के भागीदार थे, ये दाग कभी मिटने वाला नहीं है. इस दाग को बार-बार इसलिए स्मरण करने की जरूरत है ताकि फिर कोई ऐसा पाप न कर सके.

आज 25 जून को हम लोकतंत्र के लिए प्रति हमारे समर्पण, संकल्प को और ताकत के साथ समर्पित करना होगा. जो-जो भी इस पाप के भागीदार थे, ये दाग कभी मिटने वाला नहीं है. इस दाग को बार-बार इसलिए स्मरण करने की जरूरत है ताकि फिर कोई ऐसा पाप न कर सके. मैं चुनौती देता हूं कि 2004 से 2014 तक शासन में बैठे हुए लोगों ने कभी अटल जी की सरकार की तारीफ की हो. उनकी छोड़ों नरसिम्हा राव जी की सरकार की तारीफ की हो. इस सदन में बैठे हुए इन लोगों ने तो एक बार भी मनमोहन सिंह जी की सरकार का जिक्र तक नहीं किया, अगर किया हो तो बताएं.