सदन सत्र के पहले ही दिन उठा एक सवाल, आखिर कहां हैं राहुल गांधी?

जब पीएम मोदी सांसद की शपथ लेने के बाद साइन करने के लिए प्रोटेम स्पीकर की तरफ आगे बढ़े, तो सांसदों ने पूछ लिया- 'आखिर राहुल गांधी कहा हैं.'

Rahul Gandhi

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा के पहले सत्र की कार्यवाही सोमवार से शुरू हो गई है. पहले दिन प्रोटेम स्पीकर (कार्यवाहक अध्यक्ष) वीरेंद्र कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित सदन के नव-निर्वाचित सदस्यों को सांसद पद की शपथ दिलाई. इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी नजर नहीं आए. बीजेपी सांसदों से इस बात का मुद्दा बना दिया और सांसदों ने पूछ लिया, ‘आखिर राहुल गांधी कहा है.’

जब पीएम मोदी सांसद की शपथ लेने के बाद साइन करने के लिए प्रोटेम स्पीकर की तरफ आगे बढ़े, तो सांसदों ने पूछ लिया- ‘आखिर राहुल गांधी कहा हैं.’ सदन से राहुल के गैर-मौजूद रहने पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने भी सवाल उठाए. बीजेपी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि लोकसभा के सत्र के पहले दिन राहुल गांधी सदन में कहीं दिखाई नहीं दिए. राहुल के सदन से नदारत रहने पर मालवीय ने पूछा कि भारतीय लोकतंत्र के प्रति क्या उनका यही सम्मान है.

हालांकि थोड़ी देर बाद ही राहुल गांधी सदन पहुंच गए. उनके पहुंचने के बाद इस चर्चा पर विराम लग गया. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी संसद भवन पहुंच चुके हैं. वह लोकसभा में सोनिया गांधी के बगल में बैठे दिखाई दिए. इससे पहले वायनाड से चुनाव जीतने वाले राहुल गांधी ने ट्वीट कर बताया था कि सांसद के तौर पर नई शुरुआत हो चुकी है और वह दोपहर में शपथ ग्रहण करेंगे.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा सांसद के तौर पर शपथ ग्रहण की. राहुल इस बार दो जगह से चुनाव लड़े थे जिनमें से उन्हें केरल की वायनाड सीट से जीत हासिल हुई है. हालांकि राहुल गांधी को अपनी परंपरागत सीट अमेठी से हाथ धोना पड़ा और बीजेपी की स्मृति ईरानी ने उन्हें शिकस्त दी है.

Related Posts