केरल में बच्चों के यौन शोषण मामले में पादरी गिरफ्तार, उत्पीड़न से तंग आकर बच्चे ने सुनाई आपबीती

बच्चों के माता-पिता की शिकायत के आधार पर पादरी की रविवार को गिरफ्तारी हुई.
पादरी गिरफ्तार, केरल में बच्चों के यौन शोषण मामले में पादरी गिरफ्तार, उत्पीड़न से तंग आकर बच्चे ने सुनाई आपबीती

पेरम्बदम: केरल के पेरम्बदम में एक बालक आश्रय गृह में बच्चों के साथ यौन शोषण करने के आरोप में पादरी को गिरफ्तार किया गया है. रविवार को गिरफ्तार किए गए पादरी को 14 दिन की न्यायायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

पल्लुरूथी पुलिस थाने के एक अधिकारी ने मीडिया एजेंसी को बताया कि पेरूम्पडम बॉयज होम के निदेशक जॉर्ज उर्फ जेरी (40) को बच्चों के माता-पिता की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने कहा, “बच्चों के माता-पिता की शिकायत के आधार पर पादरी की रविवार को गिरफ्तारी हुई.” आश्रय गृह में रह रहे सात बच्चों के माता-पिता ने शिकायत की है कि पादरी काफी समय से बच्चों का यौन शोषण कर रहा था.

बॉयज होम का संचालन पादरी की देखरेख में होता था. कुछ समय से बच्चे पादरी के उत्पीड़न का शिकार हो रहे थे. बच्चों ने शिकायत की है कि वह हर समय गुस्सा करता, उन्हें डांटता रहता था और उनकी पिटाई भी कर देता था.

कल शाम, आरोपी के उत्पीड़न से तंग आकर एक बच्चे ने बॉयज होम से निकलकर अपने माता-पिता को इस बारे में बताया. माता-पिता के आने के बाद काफी हंगामा हुआ. पुलिस ने इस मामले में तेजी से कार्रवाई की और रविवार को उसे गिरफ्तार करने के बाद मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जिन्होंने उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. जॉर्ज को मत्तान्र्चेरी सबजेल में भेजा गया है.

जिस कैथोलिक चर्च से आरोपी जुड़ा हुआ है, उसने ईसाई धर्म के नियम-कानून के अनुसार उसके खिलाफ अनुशासनात्मक प्रक्रिया शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें- कर्नाटक सियासी संकट LIVE: 9 जुलाई को होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक

Related Posts