दिल्ली हिंसा के दौरान PCR को हर मिनट में आई 4 SOS कॉल, मंगलवार को मिली सबसे ज्यादा शिकायतें

दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि इन दो दोनों में नॉर्थ-ईस्ट इलाके से PCR में करीब 10,820 SOS कॉल आईं. जिसमें सोमवार वाले दिन 3300 और मंगलवार के दिन 7520 कॉल आईं थीं.
PCR receives 4 SOS calls every minute, दिल्ली हिंसा के दौरान PCR को हर मिनट में आई 4 SOS कॉल, मंगलवार को मिली सबसे ज्यादा शिकायतें

दिल्ली में हिंसा में अब तक 37 लोगों की मौत हो चुकी है. घटना की जांच के लिए SIT भी बना दी गई है. इस बीच खबर आई कि सोमवार और मंगलवार यानि हिंसा वाले दो दिन के दौरान नॉर्थ-ईस्ट के इलाकों से दिल्ली पुलिस कंट्रोल रूम (PCR) में हर एक मिनट में करीब चार SOS कॉल आ रहीं थी. कॉल करने वाले सभी लोग हिंसा के दौरान पुलिस से मदद मांग रहे थे.

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि इन दो दोनों में नॉर्थ-ईस्ट इलाके से PCR में करीब 10,820 SOS कॉल आईं. जिसमें सोमवार वाले दिन 3300 और मंगलवार के दिन 7520 कॉल आईं थीं. उन्होंने बताया कि अधिकांश कॉल में हिंसा, आगजनी, तोड़फोड़, हमला और पथराव की घटनाओं की शिकायतें की गईं.

हर घंटे 225 SOS कॉल

अधिकारियों ने जो आंकड़े दिए हैं उनके मुताबिक हर दिन औसतन 5,410, हर घंटे 225 और लगभग हर मिनट चार कॉल आईं. उन्होंने बताया कि इन दो दिनों में पूरे शहर से जितनी SOS कॉल PCR में आईं उसमें 20 फीसदी कॉल नॉर्थ-ईस्ट के इलाकों से आईं थीं.

आम दिनों से दोगुना SOS कॉल

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस दौरान हमारे कंट्रोल रूम युद्ध स्तर पर काम कर रहे थे. नॉर्थ-ईस्ट जिले से हमें मंगलवार को जितने फोन आए, वे आम दिनों में पूरी दिल्ली से आने वाली कॉल की संख्या से दोगुना थी. हमें याद नहीं कि आखिरी बार इस तरह के हालात कब हुए थे.

‘सभी कॉल का जवाब देना संभव नहीं’

वहीं इन इलाकों में रहने वाले कई लोगों ने कहा कि हिंसा के दौरान उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम में फोन किया लेकिन उन्हें किसी तरह की कोई मदद नहीं मिली. इसके जवाब में अधिकारी ने कहा, “सभी कॉल का जवाब देना संभव नहीं है क्योंकि पुलिस को भी किसी प्रभावित क्षेत्र तक पहुंचने के लिए हिंसक भीड़ का सामना करना पड़ता है”.

उन्होंने आगे कहा, “कई स्थानों पर हमारे लोगों को अपने वाहन छोड़कर घटनास्थल तक पैदल चल कर जाना पड़ा. हम जितनी भी कॉल रिसीव कर सकते थे उसकी हमने पूरी कोशिश की.

ये भी पढ़ें:

Delhi Violence: DCP रंधावा का बयान, ताहिर हुसैन का घर किया गया सील, SIT करेगी जांच

Related Posts