हनुमान चालीसा का पाठ करने पहुंची इशरत जहां को लोगों ने दी एरिया छोड़ने की धमकी, पुलिस से की सुरक्षा की मांग

घर पर इकट्ठा हुए लोगों का कहना है कि आप बुरखा (हिजाब) पहन कर क्यों हनुमान चालीसा के पाठ मे शामिल हुई हैं. आपको जाना ही था तो हिजाब को उतार कर जाना चाहिए था.

कोलकाता: हावड़ा के डबसन रोड स्थित संकटमोचन हनुमान मंदिर में तीन तलाक की याचिकाकर्ता इशरत जहां सामुहिक हनुमान चालीसा के पाठ मे शामिल हुई थी. इसके बाद इशरत जहां को उनके घर (मोहल्ला ) को छोड़कर बाहर दूसरे मोहल्ले में चले जाने की धमकी दी गई है.

इशरत जहां के मकान मालिक मनाजीर हुसैन ने उन्हें घर खाली करने के लिए कहा है? इस घटना के बाद से इशरत जहां काफी डरी हुई है और पुलिस प्रशासन से अपनी सुरक्षा की गुहार लगायी है. इशरत जहां ने कहा की आज दोपहर अचानक 1 बजे हमारे घर के पास सैकड़ों की तादात मे हमारे कौम के लोग इकट्ठा हो कर हमे घर छोड़ बाहर निकल जाने के लिये कहा.

घर पर इकट्ठा हुए लोगों का कहना है कि आप बुरखा (हिजाब) पहन कर क्यों हनुमान चालीसा के पाठ मे शामिल हुई हैं. आपको जाना ही था तो हिजाब को उतार कर जाना चाहिए था. इससे हमारे मुस्लिम समाज की तौहीन हो रही है. इसरत जहां ने कहा कि मैं यहां के पुलिस प्रशासन से अनुरोध करती हुं, कि हमें भी इस समाज मे रहने देने के लिए उचित व्यवस्था करें?

भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है जहां सबको अपने धर्म का पालन और दूसरों के धर्म का सम्मान करना सिखाता है, इसके पहले भी इशरत जहां को अपमानित होना पड़ा है, जब इनके शौहर ने इनको तीन तलाक़ दिया था और वो इसके खिलाफ जब उन्होंने आवाज उठायी थी.

तब भी उनके आप पास के लोगों ने उनको सार्वजनिक रूप से अपमानित किया था, उनकों बार-बार उनके ससुराल वालों के साथ- साथ स्थानीय मुस्लिम कट्टरपंथियों द्वारा भी इसरत को इलाके से बाहर निकलने का दबाव दिया जा रहा है. इस घटना से घबराई इशरत जहां ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है.