भारत-पाकिस्‍तान के बीच एटमी वॉर पर मुशर्रफ ने दिया 20, 50 अटैक फॉर्मूला

यूएई में एक प्रेंस वार्ता को संबोधित करते हुए मुशर्रफ ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते बेहद नाजुक दौर ने गुजर रहे हैं. लेकिन उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच परमाणु हमला नहीं होगा.

नयी दिल्ली: कभी भारत पर तीखे शब्द बाण छोड़ने वाले पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को शायद अब हकीकत से वास्ता हो पाया है. समाचार पत्र डॉन के अनुसार, यूएई में एक प्रेंस वार्ता को संबोधित करते हुए मुशर्रफ ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते बेहद नाजुक दौर ने गुजर रहे हैं. लेकिन उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच परमाणु हमला नहीं होगा.

उन्होंने कहा, ‘अगर हम भारत पर एक परमाणु बम से हमला करते हैं, तो पड़ोसी देश 20 बमों से हमला करके हमें खत्म कर सकता है. तब एकमात्र उपाय यह है कि हमें पहले उन पर 50 परमाणु बमों से हमला करना चाहिए ताकि वे हमें 20 बमों से न मार सकें. क्या आप पहले 50 बमों के साथ हमला करने के लिए तैयार हैं? यह इतना सरल नहीं है. ऐसी बात मत करो. हमेशा एक सैन्य रणनीति होती है.’

पाकिस्तान भी कर सकता है सर्जिकल स्ट्राइक
पूर्व सेना प्रमुख ने कहा कि भारत को कश्मीर में कुछ क्षेत्रों में फायदा है और वह सर्जिकल स्ट्राइक कर सकता है, लेकिन पाकिस्तान को भी कई अन्य क्षेत्रों में फायदा है. उन्होंने भारत के किसी भी संभावित कदम से निपटने के लिए समय से पहले पाकिस्तान सेना को तैयार रहने का सुझाव दिया. उन्होंने कहा कि अगर भारत कश्मीर में कोई हमला करता है, तो पाकिस्तान सिंध और पंजाब के अन्य इलाकों में जवाब दे सकता है और उन्हें सबक सिखा सकता है.

हमवतन लौटने की इच्छा
मुशर्रफ ने दावा किया है कि आल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एपीएमएल) के प्रमुख मुशर्रफ संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में स्व निर्वासन की जिंदगी जी रहे हैं. हालांकि उन्होंने पाकिस्तान लौटने की इच्छा जताते हुए कहा कि उनके देश में राजनीतिक माहौल उनके अनुकूल हो गया है. मुशर्रफ ने कहा कि उनकी राय में राजनीतिक माहौल अच्छा और उनके पक्ष में है. आधे से ज्यादा मंत्रालय उनके हैं. कानून मंत्री और अटार्नी जनरल मेरे वकील रह चुके हैं.