‘माफ किए जाएं Corona Warriors के ट्रैफिक चालान,’ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल

याचिका में दलील दी गई है कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान बनी परिस्थिति में जरूरी सेवाओं से जुड़े स्वास्थ्य और अन्य कोरोना वॉरियर्स (Corona Warriors) पर किसी भी अपराध के बिना जुर्माना लगाया गया है जो कि पूरी तरह से अवैध (Illegal) है.
PIL in Delhi High Court, ‘माफ किए जाएं Corona Warriors के ट्रैफिक चालान,’ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में एक जनहित याचिका दायर कर मांग की गई है कि कोरोना वॉरियर्स के ट्रैफिक चालान माफ किए जाएं. याचिका में कहा गया है कि हाईकोर्ट दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को निर्देश दें कि वह लॉकडाउन (Lockdown) के पहले दो चरणों के दौरान लोगों के इलाज में जुटे कोरोनावायरस योद्धा (Corona Warriors) डॉक्टरों के खिलाफ जारी ई-चालान को माफ करे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

लॉकडाउन में कोरोना वॉरियर्स का ई-चालान 

दिल्ली हाईकोर्ट में यह जनहित याचिका (PIL) इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (द्वारका) द्वारा दायर की गई है. याचिका में मांग की गई है कि कई डॉक्टरों और अन्य कोरोनावायरस वॉरियर्स जैसे- स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस, सुरक्षाकर्मियों और बैंक कर्मियों पर यातायात के नियमों का उल्लंघन करने पर लगाए गए जुर्माने को तुरंत माफ करने के निर्देश दिए जाएं. ये सभी लोग लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं पर थे.

याचिका में कहा गया है कि जगह-जगह पर ट्रैफिक रूट्स बंद थे. रूट डायवर्सन को लेकर कोई स्पष्टता नहीं थी. ट्रैफिक सिग्नल काम नहीं कर रहे थे. ऐसे में जो ई-चालान काटे ग‌ए थे, वे तकनीकी उपकरणों द्वारा बिना किसी विशेष जानकारी और उचित आधार के काटे ग‌ए.

व्यापक दिशा-निर्देश तैयार किए जाने की जरूरत

याचिका में यह भी कहा गया है कि वाहनों की स्पीड को लेकर एक व्यापक दिशा-निर्देश तैयार किए जाएं. सभी सड़कों पर एक निश्चित दूरी पर आसानी से पहचाने जाने वाले गति सीमा साइनबोर्ड लगाए जाएं ताकि वाहन चालक उन्हें आसानी से देख और समझ सकें. सड़क पर ज़ेबरा क्रॉसिंग भी ऐसे हों जो साफ-साफ दिखाई दें.

याचिका में दलील दी गई है कि लॉकडाउन के दौरान बनी परिस्थिति में जरूरी सेवाओं से जुड़े स्वास्थ्य और अन्य कोरोना वॉरियर्स पर किसी भी अपराध के बिना जुर्माना लगाया गया है जो कि पूरी तरह से अवैध है. दिल्ली हाईकोर्ट 15 जून को इस मामले पर सुनवाई करेगी.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts