• Home  »  टॉपदेश   »   इस साल के ऐतिहासिक यूएनजीए सेशन की दो चर्चाओं में हिस्सा लेंगे पीएम मोदी, जानें-क्यों है खास

इस साल के ऐतिहासिक यूएनजीए सेशन की दो चर्चाओं में हिस्सा लेंगे पीएम मोदी, जानें-क्यों है खास

राजनयिक ने बताया कि जैव विविधता शिखर सम्मेलन का आयोजन 30 सितंबर को ‘अर्जेंट एक्शन ऑन बायोडाइवर्सिटी फॉर सस्टेनेवल डिवेलपमेंट’ विषय पर होगा.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 7:30 am, Sat, 19 September 20
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (FILE)

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस त्रिमूर्ति (TS Tirumurti) ने कहा कि इस साल के “ऐतिहासिक” संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र का मुख्य आकर्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की भागीदारी होगी. वो सितंबर 21 सितंबर से होने वाले उच्च स्तरीय दो चर्चाओं में हिस्सा लेंगे.

त्रिमूर्ति ने कहा कि कि पहली एक सामान्य चर्चा है, जहां प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे और राष्ट्र का पक्ष रखेंगे, जबकि दूसरी संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर उच्च स्तरीय बैठक है. UNGA में उनका भाषण हमारी सहभागिता का मुख्य बिन्दु होगा. राजनयिक ने बताया कि जैव विविधता शिखर सम्मेलन का आयोजन 30 सितंबर को ‘अर्जेंट एक्शन ऑन बायोडाइवर्सिटी फॉर सस्टेनेवल डिवेलपमेंट’ विषय पर होगा.

यह जैव विविधता को लेकर संयुक्त राष्ट्र में पहला शिखर सम्मेलन होगा. हमारे पर्यवारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर इस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. त्रिमूर्ति ने जोर देकर कहा कि भारत दुनिया के 10 मेगा जैव विविधता वाले देशों में से एक है और देश ने जैव विविधता के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाई है.

स्मृति ईरानी और विदेश मंत्री के भी कार्यक्रम

भारत ने इस साल फरवरी में वन्य प्राणियों के प्रवासी प्रजाति के संरक्षण पर पार्टियों का सम्मेलन का आयोजन किया. हमने दिल्ली में पिछले साल सितंबर में संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन टू कॉम्बैट डेजर्टिफिकेशन के लिए भी सम्मेलन रखा था. उन्होंने यह भी बताया कि वर्ल्ड कान्फ्रेंस ऑफ वूमेन की 25 वीं वर्षगांठ मनाने की एक महत्वपूर्ण घटना 1 अक्टूबर को होगी.

महिला सशक्तीकरण और लैंगिक संवेदनशीलता के प्रति भारत की मजबूत प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हुए इस आयोजन में महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी भाग लेंगी. इसके अलावा, विदेश मंत्री एस जयशंकर संयुक्त राष्ट्र महासभा के आयोजन पर होने वाली कुछ मंत्री बैठकों में भाग लेंगे