मोदी 2.0 एक साल: पीएम ने लिखा जनता को पत्र, कहा- घाटी से हमने 370 हटाने जैसे लिए कई ऐतिहासिक फ़ैसले

पीएम मोदी ने अपने लैटर में सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, अनुच्छेद 370, तीन तलाक (Triple Talaq) का भी जिक्र किया है. पीएम ने मौजूदा प्रवासी मजदूरों की समस्या के बारे में भी पत्र में लिखा और सरकार के द्वारा की जा रही कोशिश के बारे में बताया.
PM Modi wrote a letter to the nation, मोदी 2.0 एक साल: पीएम ने लिखा जनता को पत्र, कहा- घाटी से हमने 370 हटाने जैसे लिए कई ऐतिहासिक फ़ैसले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने अपने दूसरे कार्यकाल के एक साल पूरे होने को लेकर राष्ट्र के नाम एक चिट्ठी (Letter to Nation) लिखी है जिसमें अपने कामकाज से जुड़ी महत्वपूर्ण उपलब्धियों का जिक्र किया है. पीएम ने अपनी चिट्ठी में लिखा है आपने 2019 में दोबारा हमें वोट दिया एक सपने के साथ कि भारत नई ऊंचाई पर पहुंचे.

पीएम मोदी ने अपने लैटर में सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, अनुच्छेद 370, तीन तलाक (Triple Talaq) का भी जिक्र किया है. पीएम ने मौजूदा प्रवासी मजदूरों की समस्या के बारे में भी पत्र में लिखा और सरकार के द्वारा की जा रही कोशिश के बारे में बताया. पीएम ने पत्र की शुरुआत करते हुए कहा कि ”मेरे प्यारे भारतीयों’ पिछले साल इस दिन भारतीय लोकतंत्र में एक सुनहरा अध्याय शुरु किया.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

सामान्य समय होता तो आपके बीच होता

यह कई सालों बाद हुआ कि देश के लोगों ने पूर्ण बहुमत से साथ एक सरकार को वोट दिया. एक बार फिर मैं भारत के 130 करोड़ लोगों और हमारे राष्ट्र के लोकतांत्रिक लोकाचार को नमन करता हूं. सामान्य समय के दौरान, मैं आपके बीच में होता, लेकिन इस वक्त की परिस्थितियां मुझे इसकी इजाजत नहीं देतीं, इसलिए इस पत्र के माध्यम से आपका आशीर्वाद चाहता हूं. आपके स्नेह, सद्भावना और सक्रिय सहयोग ने नई ऊर्जा और प्रेरणा दी है.

पिछले 5 साल में भ्रष्टाचार से मुक्त हुआ भारत

आपने जिस तरह से लोकतंत्र की ताकत का सामूहिक प्रदर्शन किया है, वह पूरी दुनिया के लिए एक मार्गदर्शन की तरह है. 2014 में देश के लोगों ने एक व्यापक परिवर्तन के मतदान किया. पिछले पांच सालों में राष्ट्र ने देखा कि कैसे प्रशासनिक तंत्र ने खुद को यथास्थिति से मुक्त किया और भ्रष्टाचार के साथ-साथ दुर्व्यवहार से भी. अंत्योदय की भावना ने लाखों लोगों के जीवन को बदल कर रख दिया.

भारत का कद 2019 तक बहुत बढ़ा

2014 से 2019 तक, भारत का कद काफी बढ़ा है. इस दौरान गरीबों की गरिमा को बढ़ाया गया. राष्ट्र ने वित्तीय समावेशन, मुफ्त गैस और बिजली कनेक्शन, स्वच्छता, और ‘सभी के लिए आवास’ सुनिश्चित करने की दिशा में प्रगति की है. भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) और एयर स्ट्राइक (Air Strike) के माध्यम से अपनी ताकत का प्रदर्शन किया.

इसके साथ ही OROP, वन नेशन वन टैक्स, GST जैसी दशकों पुरानी मांगें किसानों के लिए बेहतर MSP से पूरी हुई हैं. 2019 में भारत के लोगों ने न केवल निरंतरता के लिए मतदान किया, बल्कि एक सपने के साथ भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए भी. भारत का वैश्विक नेता बनाने का सपना है. पिछले एक साल में लिए गए फैसलों ने सपने को पूरा करने के लिए दिशा दी है.

370 पर फैसले से राष्ट्रीय एकता बढ़ी

मेरे साथी भारतीयों पिछले एक साल में कुछ फैसलों पर व्यापक चर्चा हुई और ये सार्वजनिक चर्चा की वजह बने रहे. अनुच्छेद 370 पर निर्णय ने राष्ट्रीय एकता और एकीकरण की भावना को आगे बढ़ाया. भारत के माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सर्वसम्मति से दिया गया राम मंदिर का फैसला, सदियों से चली आ रही बहस का एक सौहार्दपूर्ण अंत लेकर आया. ट्रिपल तलाक की बर्बर प्रथा को इतिहास के कूड़ेदान तक सीमित कर दिया गया है. नागरिकता अधिनियम में संशोधन भारत की करुणा और समावेश की भावना की अभिव्यक्ति था. इनके अलावा कई अन्य फैसले भी आए हैं, जिन्होंने राष्ट्र के विकास की गति को आगे बढ़ाया है.

गगनयान की तैयारियों में भारत

रक्षा कर्मचारियों के प्रमुख का पद लंबे समय से सुधार के लिए लंबित था, जिसने सशस्त्र बलों के बीच समन्वय में सुधार किया है. इसके साथ ही भारत ने मिशन गगनयान की तैयारियों को भी तेज कर दिया है. गरीबों, किसानों, महिलाओं और युवाओं को सशक्त बनाना हमारी प्राथमिकता बनी हुई है. पीएम किसान सम्मान निधि में अब सभी किसान शामिल हैं. केवल एक साल में 9 करोड़ 50 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में 72 हजार करोड़ रुपये जमा किए हैं. जल जीवन मिशन के तहत 15 करोड़ से अधिक ग्रामीण घरों में पाइप कनेक्शन साथ पीने के पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है.

किसानों, मजदूरों और छोटे-दुकानदारों की मदद

हमारे 50 करोड़ पशुधन के बेहतर स्वास्थ्य के लिए मुफ्त टीकाकरण का एक बड़ा अभियान चलाया जा रहा है. हमारे देश के इतिहास में पहली बार, असंगठित क्षेत्र के किसानों, खेती करने वाले मजदूरों, छोटे दुकानदारों और श्रमिकों को 60 वर्ष की उम्र के बाद 3,000 की नियमित मासिक पेंशन का प्रावधान करने का आश्वासन दिया गया है. बैंक ऋण का लाभ उठाने की सुविधा के अलावा, मछुआरों के लिए एक अलग विभाग भी बनाया गया है. मत्स्य क्षेत्र को मजबूत करने के लिए कई अन्य निर्णय लिए गए हैं.

इसी प्रकार, व्यापारियों की समस्याओं के समयबद्ध समाधान के लिए व्यपारी कल्याण बोर्ड का गठन करने का निर्णय लिया गया है. स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी सात करोड़ से अधिक महिलाओं को वित्तीय सहायता की प्रदान की जा रही है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts