PM मोदी की चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग से महाबलीपुरम में होगी मुलाकात, इन चार स्थलों का करेंगे दर्शन

11-13 अक्टूबर को तमिलनाडु के ऐतिहासिक शहर महाबलीपुरम या मामल्लपुरम में पीएम मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग साथ होंगे.
Narendra Modi, PM मोदी की चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग से महाबलीपुरम में होगी मुलाकात, इन चार स्थलों का करेंगे दर्शन

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अगले हफ्ते भारत दौरे पर आ रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीनी राष्ट्रपति चेन्नई के पास महाबलीपुरम का दौरा करेंगे. महाबलीपुरम पीएम मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग के स्वागत के लिए तैयार है. सुरक्षा के लिहाज से तटों पर पानी से जुड़ी स्पोर्ट्स गतिविधियों को रोक दिया गया है.

पीएम मोदी-राष्ट्रपति जिनपिंग इन चार स्थलों का करेंगे दर्शन
पीएम मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग महाबलीपुरम में इन चार जगहों का साथ-साथ भ्रमण और दर्शन करेंगे. ये जगहें हैं- महाबलीपुरम तट, शोर मंदिर, पांच रथ और कृष्ण बटरबॉल (बटर स्टोन).

11-13 अक्टूबर को तमिलनाडु के ऐतिहासिक शहर महाबलीपुरम या मामल्लपुरम में पीएम मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग साथ होंगे. इस दौरान ये नेता दोनों देशों के बीच सदियों पुराने संबंध को याद करते हुए कुछ ऐतिहासिक स्थलों को साथ-साथ देखेंगे, घूमेंगे और सेल्फी भी लेंगे.

1200 साल पुराने इतिहास को समेटे इन जगहों पर भारत और चीन के सदियों पुराने संबंध की दास्तान है. लेकिन इन जगहों की अपनी अलग विशेषता भी है.

Narendra Modi, PM मोदी की चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग से महाबलीपुरम में होगी मुलाकात, इन चार स्थलों का करेंगे दर्शन
महाबलीपुरम में प्राचीन मंदिर.

पल्लव वंश के शासनकाल में विकसीत हुआ महाबलीपुरम
दक्षिण भारत के स्वर्णकाल कहे जाने वाले पल्लव वंश के शासनकाल में महाबलीपुरम विकसित हुआ. राजा नरसिंह देव वर्मन के समय समुद्र तट के पास बने मंदिरों में शोर मंदिर और पांच रथ यूनेस्को के हेरिटेज लिस्ट में भी हैं.

सूर्य की पहली किरणें जहां शोर मंदिर की छटा बिखेरतीं हैं. वहीं, रात्रिकाल में ये समुन्द्र के लिए लाइट हाउस की तरह भी काम करते हैं.

कृष्ण के पत्थर के साथ दिलचस्प मिथक भी जुड़ा है. कहते हैं कि पल्लव शासनकाल में सात हाथियों से पत्थर को हटाने की असफल कोशिश की गई थी. ये जगह सेल्फी के लिए बहुत ही मशहूर है.

ये भी पढ़ें-

मुंबई में पेड़ों से क्यों चिपके हैं लोग? इस तस्वीर ने दिला दी सुंदर लाल बहुगुणा की याद

दिल्ली में हैं 5000 स्पा सेंटर, आंकड़ों को लेकर आमने-सामने Justdial और MCD

अब AIIMS-JIPMER समेत सभी मेडिकल कॉलेज में NEET से होगा एडमिशन: डॉ. हर्षवर्धन

Related Posts