इस साल कम होगा पीएम मोदी का विदेश दौरा, अर्थव्यवस्था समेत घरेलू मसलों पर करेंगे फोकस

सरकार के उच्च सूत्रों के मुताबिक इस साल पीएम मोदी विदेश नीति के मद्देनजर केवल बहुपक्षीय सम्मेलनों में ही शिरकत करेंगे.

PM Narendra Modi foreign visit, इस साल कम होगा पीएम मोदी का विदेश दौरा, अर्थव्यवस्था समेत घरेलू मसलों पर करेंगे फोकस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वर्ष अंतरराष्ट्रीय राजनीति के बजाय घरेलू चुनौतियों से निपटने पर ज्यादा जोर देंगे. देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना और नागरिकता कानून जैसे मुद्दों पर हो रहे राजनीतिक विरोध को शांत करने में पीएम मोदी इस साल ज्यादा समय देने वाले हैं.

सरकार के उच्च सूत्रों के मुताबिक इस साल पीएम मोदी विदेश नीति के मद्देनजर केवल बहुपक्षीय सम्मेलनों में ही शिरकत करेंगे. इसके तहत रूस में होने वाले SCO समिट और ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. वहीं नवंबर में सऊदी अरब में होने वाले जी-20 सम्मेलन और वियतनाम में होने वाले ईस्ट एशिया समिट में भाग लेंगे.

इन बहुपक्षीय सम्मेलनों के अलावे पीएम मोदी कुछ देशों की यात्रा करेंगे जिसमें बांग्लादेश, रूस और चीन प्रमुख हैं. 17 मार्च से आयोजित बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान जन्म शताब्दी समारोह के लिए पीएम मोदी बांग्लादेश का दौरा करेंगे. वहीं रूस में 9 मई को मनाए जाने वाले विक्टिरी डे परेड में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मॉस्को जाएंगे. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी इस साल रूस के विक्ट्री डे परेड में भाग लेने आने वाले हैं.

इन दोनों देशों के विशेष समारोह में दौर करने के अलावे नरेंद्र मोदी भारत और चीन के बीच होने वाले अनौपचारिक सम्मेलन के इस बार चीन आएंगे. इससे पहले अक्टूबर 2019 में चीन के राष्ट्रपति अनौपचारिक सम्मेलन के लिए तमिलनाडु के मामल्लपुरम आये थे.

चीन के अलावा जर्मनी के साथ भी भारत का एक सालाना सम्मेलन होता है जिसे Inter-Governmental Consultations (IGC) के नाम से जाना जाता है. जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल 31 अक्टूबर – 1 नवंबर 2019 को भारत आई थी. इस बार भारतीय प्रधानमंत्री के जर्मनी जाने की बारी है.

इन देशों के अलावे जापान के साथ हरेक साल एक समिट होता है और बारी- बारी से दोनों पीएम इसमें भाग लेने के लिए एक दूसरे के देश मे जाते हैं. बीते साल 2019 में भारत-जापान वार्षिक सम्मेलन गुवाहाटी में होना था, लेकिन NRC और नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में पूर्वोत्तर में हुए हिंसक प्रदर्शनों की वजह से जापान के पीएम का दौरा टल गया था. इसलिए साल 2020 में पीएम मोदी के जापान जाने से पहले वहां के पीएम शिंजो अबे के भारत दौरे का कार्यक्रम हो सकता है.

इन विदेशी दौरे के अलावे अंतरराष्ट्रीय राजनीति की जरूरत के हिसाब से पीएम मोदी कुछ देशों का अहम दौरा कर सकते है. मई 2014 से लेकर जनवरी 2020 तक पीएम मोदी ने अबतक कुल 59 विदेशी दौरे में 60 मुल्कों की यात्रा की है.

ये भी पढ़ें –

जम्मू कश्मीर पुलिस की सफाई, आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी को नहीं मिला था राष्ट्रपति मेडल

राहुल गांधी के खिलाफ लिखना MU डायरेक्टर को पड़ा भारी, जबरन छुट्टी पर भेजा गया

Related Posts