मां को याद करते ही उतर जाती है थकान’, देश के बालवीरों से बोले PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा, 'आप सब कहने को तो बहुत छोटी आयु के हैं, लेकिन आपने जो काम किया है उसको करने की बात तो छोड़ दीजिए, उसे सोचने में भी बड़े-बड़े लोगों के पसीने छूट जाते हैं.'

पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित बच्चों को अपने निवास पर संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘मैं आप सभी युवा साथियों के ऐसे साहसिक काम के बारे में जब भी सुनता हूं, आपसे बातचीत करता हूं, तो मुझे भी प्रेरणा मिलती है, ऊर्जा मिलती है.’

‘आपने जो काम किया वो अदभुत है’

उन्होंने कहा, ‘थोड़ी देर पहले आप सभी का परिचय जब हो रहा था, तो मैं सच में हैरान था. इतनी कम आयु में जिस प्रकार आप सभी ने अलग-अलग क्षेत्रों में जो प्रयास किए, जो काम किया है, वो अदभुत है. आप अपने समाज के प्रति, राष्ट्र के प्रति अपनी ड्यूटी के लिए जिस प्रकार से जागरूक हैं, ये देखकर गर्व होता है.

‘मां को याद करता हूं तो थकान उतर जाती है’

पीएम मोदी ने कहा, ‘अभी एक बच्चे ने मुझसे पूछा कि आपको मां की याद नहीं आती, मां को जब भी याद करता हूं तो थकान उतर जाती है.’

चेहरे पर इतना तेज कैसे है?

पीएम मोदी ने अपने अनुभव को शेयर करते हुए कहा, ‘एक बार किसी ने मुझसे पूछा कि आपके चेहरे पर इतना तेज कैसे है? इसपर मैंने कहा मेरे शरीर से इतना पसीना निकलता है, मेहनत करता हूं और मैं उसे चेहरे पर मल लेता हूं, इसलिए चमक जाता है.’

‘साहसिक कार्यों से मुझे भी प्रेरणा मिलती है’

पीएम मोदी ने कहा, ‘आप सब कहने को तो बहुत छोटी आयु के हैं, लेकिन आपने जो काम किया है उसको करने की बात तो छोड़ दीजिए, उसे सोचने में भी बड़े-बड़े लोगों के पसीने छूट जाते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘आप युवा साथियों के साहसिक कार्यों के बार में जब भी मैं सुनता हूं तो मुझे भी प्रेरणा मिलती है. आप जैसे बच्चों के भीतर छिपी प्रतिभा को प्रोत्साहित करने के लिए ही इन राष्ट्रीय पुरस्कारों का दायरा बढ़ाया गया है.’

ये भी पढ़ें-

पीएम मोदी ने दिया दखल तो शुरू हुआ 25 साल पुराना प्रॉजेक्ट

बजट 2020 : दुनिया के वो तीन बड़े खतरे जो बिगाड़ सकते हैं वित्‍तमंत्री का गणित