‘किसी का भी बेटा हो, ऐसा करे तो निकाल देना चाहिए’, बल्‍लामार आकाश विजयवर्गीय पर बोले PM मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि "किसी को मनमानी नहीं करने दी जाएगी, चाहे वो किसी का बेटा हो."

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक सरकारी कर्मचारी पर बल्ले से हमला करने को लेकर पार्टी नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय की निंदा करते हुए मंगलवार को कहा, “बेटा किसी का भी हो, ऐसे लोगों को पार्टी से निकाल देना चाहिए.” मोदी ने यह टिप्पणी संसद में भाजपा संसदीय दल की बैठक के दौरान की. मोदी ने कहा, “हम ऐसा कोई नेता नहीं चाहते जो पार्टी की छवि को खराब करे. बेटा किसी का भी हो, ऐसे नेताओं को पार्टी से निकाल देना चाहिए.”

मोदी इंदौर के एक भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय का जिक्र कर रहे थे, जिन्होंने 26 जून को नगर निगम के एक अधिकारी पर मकान गिराने के मामले में हमला किया था. मोदी ने जेल से छूटने के बाद आकाश विजयवर्गीय का जोरदार स्वागत करने को लेकर भी पार्टी नेताओं की आलोचना की और कहा, “जिन्होंने उनका स्वागत किया, ऐसे नेताओं को भी पार्टी से बर्खास्त किया जाना चाहिए.”

सूत्रों के अनुसार, पीएम ने नए सांसदों से अपने आचरण और सामाजिक व्‍यवहार को नियंत्रित और मर्यादा में रखने को भी कहा है. पीएम ने ये भी कहा कि ऐसे लोगों का साथ देने वालों पर भी कार्यवाई होनी चाहिए. बैठक में प्रधानमंत्री ने हर एक बूथ को पार्टी से जोड़ने का आग्रह किया. पीएम मोदी ने कहा कि हर बूथ में सदस्‍यता अभियान के बाद वहां पांच पेड़ लगाए जाएं.

संसद की गरिमा पर बोलते हुए पीएम ने कहा कि हर एक सांसद को सेवाभाव रखना चाहिए. उन्‍होंने कहा, “वरिष्ठ लोगो के त्याग और बलिदान के कारण हम यहां हैं. सभी संसद सदस्य संसद में रहें. संसद एक तरह का विद्यालय है. हर एमपी की पहचान सेवा के काम से होनी चाहिए.”

क्‍या था मामला?

नगर निगम के एक अधिकारी को क्रिकेट बैट से पीटने की वजह से इंदौर तृतीय से BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय को गिरफ्तार कर लिया गया था. 30 जून को उन्‍हें जमानत से जेल पर छोड़ा गया. बाहर आने पर उनके समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया. उन्होंने जश्न मनाते हुए हवाई फायरिंग भी की.

ये भी पढ़ें

“कच्‍चे खिलाड़ी हैं बेटे आकाश विजयवर्गीय, अधिकारियों को नहीं होना चाहिए एरोगेंट”

रिहा हुए ‘बल्लामार’ BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय, बोले- भगवान दोबारा बल्लेबाजी का मौका न दे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *