“चिराग पासवान से सीखें, कैसे तैयार होकर पहुंचा जाता है संसद”, PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि संसद एक सीखने की जगह है, जो सीखेगा उसका ही सम्मान होगा.

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी की लोकसभा चुनाव 2019 में मिली जीत के बाद मंगलवार को संसदीय दल की पहली बैठक हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक में नए सांसदों की क्लास ली. साथ ही उन्होंने सांसदों के लिए कुछ टारगेट भी सेट किए. इस दौरान पीएम मोदी ने लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के सांसद चिराग पासवान की तारीफ की.

‘संसद की प्रक्रिया में भाग लेते हैं चिराग’
पीएम मोदी ने कहा कि ‘आपको (नवनिर्वाचित सांसद) रामविलास पासवान के बेटे और एलजेपी सांसद चिराग पासवान से सीखना चाहिए कि कैसे वो संसद में किसी बिल पर अपने भाषण की तैयारी करके आते हैं. चिराग संसद की प्रक्रिया में भाग लेते हैं और महत्वपूर्ण चर्चा में मौजूद रहते हैं.’

पीएम मोदी ने कहा, “संसद एक सीखने की जगह है, जो सीखेगा उसका ही सम्मान होगा. सभी सांसद सिर्फ बयानबाजी न करें और सेवा काम में जुटें. हर बूथ में सांसद 5 पेड़ लगाएं, यानी पंचवटी. सांसदों की अपने क्षेत्र में एक पहचान होनी चाहिए. नए सांसद अधिक से अधिक संख्या में सदन में उपस्थित रहें.”

pm modi, “चिराग पासवान से सीखें, कैसे तैयार होकर पहुंचा जाता है संसद”, PM मोदी
लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के अध्यक्ष व अपने पिता रामविलास पासवान के साथ चिराग पासवान. (IANS Photo)

मालूम हो कि चिराग पासवान दूसरी बार सांसद बने हैं. बिहार की जमुई लोकसभा सीट से उन्होंने लगातार दूसरी बार चुनाव जीता है. चिराग ने राजनीति में आने से पहले अभिनय की दुनिया में भी प्रयास किया था लेकिन खास सफलता नहीं मिली.

‘ऐसे लोगों को पार्टी से निकाल देना चाहिए’
दूसरी तरफ, पीएम मोदी ने एक सरकारी कर्मचारी पर बल्ले से हमला करने को लेकर पार्टी नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय की निंदा की. उन्होंने कहा कि ‘बेटा किसी का भी हो, ऐसे लोगों को पार्टी से निकाल देना चाहिए. हम ऐसा कोई नेता नहीं चाहते जो पार्टी की छवि को खराब करे.’

मोदी ने जेल से छूटने के बाद आकाश विजयवर्गीय का जोरदार स्वागत करने को लेकर भी पार्टी नेताओं की आलोचना की. उन्होंने कहा, “जिन्होंने उनका स्वागत किया, ऐसे नेताओं को भी पार्टी से बर्खास्त किया जाना चाहिए.”

ये भी पढ़ें-

आकाश विजयवर्गीय को BJP ने भेजा कारण बताओ नोटिस, मोदी की नाराजगी के बाद एक्शन में आई पार्टी

पुलिस के खिलाफ हाई कोर्ट पहुंचीं मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां, लगाए गंभीर आरोप

कोर्ट का फैसला मेरे पक्ष में फिर भी बैंकों-देनदारों का कर्ज चुकाने को तैयार: विजय माल्या