PM मोदी ने ट्रेनी IAS ऑफिसर्स को सिखाया ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रॉब्लम और टोटल सलूशन’ का फॉर्मूला

“एसी कमरों में बैठे अक्सर हमें सब ठीक-ठाक समझ आता है. हमें अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलकर लोगों से जुड़ना होगा तभी बेहतर काम हो सकेगा.”

पीएम मोदी गुरुवार को एकता दिवस के मौके पर गुजरात पहुंचे. इस दौरान उन्होंने केवडिया में स्टैचू ऑफ यूनिटी पर ट्रेनी IAS अधिकारियों को संबोधित किया. पीएम ट्रेनी ऑफिसर्स से कहा, एक समय पर एक समस्या को निपटाने का प्रयास कीजिए, ताकि जब आप भविष्य में कहीं तैनात हों तो उस जगह ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रॉब्लम और टोटल सलूशन’ के फॉर्मूले पर काम हो.

पीएम मोदी ने सरदार पटेल को याद करते हुए कहा, ‘ब्यूरोक्रेसी के भरोसे बढ़ने की बात सरदार साहब ने ही याद दिलाई थी. रियासतों के विलय में इसका अहम योगदान दिया था. सरदार पटेल ने दिखाया है कि सार्थक बदलाव के लिए एक बुलंद इच्छाशक्ति जरूरी है.’

पीएम मोदी ने अधिकारियों से अपील की कि वो हर जिले में एक बड़ी समस्या का समाधान करें. उन्होंने कहा, ‘आने वाले समय में आप में से कई की तैनाती जिला और ब्लॉक स्तर पर होगी. मेरा सुझाव है कि आप एक समय पर एक समस्या को हल करने की सोचें और वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रॉब्लम और टोटल सलूशन का फॉर्मूले को अपनाएं. इससे आपका कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और आप जनता का भरोसा आप जीत सकेंगे.

पीएम मोदी ने कहा, ‘एसी कमरों में बैठे अक्सर हमें सब ठीक-ठाक समझ आता है. मगर ऐसे हमें समस्याओं की सही जानकारी नहीं मिल पाती. हमें अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलकर लोगों से जुड़ना होगा तभी बेहतर काम हो सकेगा.’

‘आप आगे जाकर जब भी कोई फैसला लें तो उसे दो पहलुओं पर कसें. पहला- महात्मा गांधी के दिखाए रास्ते पर जिसके मुताबिक क्या फैसला समाज के आखिरी छोर पर खड़े इंसान की आशा और महत्वकांक्षाओं को पूरा करता है? दूसरा- देश की एकता और अखंडता को आपके फैसले से बढ़ावा मिले.’

ये भी पढ़ें-

बिना रसीद के सोना रखना पड़ेगा महंगा, सरकार तय करने जा रही लिमिट?

तेजस एक्‍सप्रेस से कर रहे सफर? इस वजह से लेट हुई ट्रेन तो यात्रियों को नहीं मिलेगा रिफंड

Chhath Puja 2019: इन 5 गीतों से करें छठी मईया को खुश, बरसेगी कृपा