संयुक्त राष्ट्र महासभा को कल संबोधित करेंगे PM मोदी, इन मुद्दों पर रखेंगे भारत का पक्ष

पीएम मोदी (Narendra Modi) अपने संबोधन में संयुक्त राष्ट्र (UN) के 75 साल पूरे होने पर इसमें व्यापक सुधार की जरूरत और सुरक्षा परिषद (UNSC) में स्थायी सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी पर जोर देंगे.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 7:48 pm, Fri, 25 September 20
संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी (FILE)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) शनिवार यानी कल शाम 6.30 बजे संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) को संबोधित करेंगे. पीएम मोदी का यह रिकॉर्डेड भाषण होगा. पीएम अपने संबोधन में संयुक्त राष्ट्र (UN) के 75 साल पूरे होने पर इसमें व्यापक सुधार की जरूरत और सुरक्षा परिषद (UNSC) में स्थायी सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी पर जोर देंगे. साथ ही आतंकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई में संयुक्त राष्ट्र संघ की भूमिका पर भी चर्चा करेंगे.

कोरोना (Coronavirus) महामारी से लड़ाई में भारत ने कैसे अग्रणी भूमिका निभाई. घरेलू कार्रवाई के अलावे कैसे दुनिया भर के देशों को दवाई और दूसरे मेडिकल समान मुहैया कराए, इन सब का जिक्र भी पीएम करेंगे.

पिछले साल जब नरेंद्र संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करने न्यूयॉर्क में थे, तब भारत ने संयुक्त राष्ट्र को सोलर पैनल गिफ्ट किए थे, जिन्हें UN की बिल्डिंग की छत पर लगवाया गया था.

संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के 75 साल पूरे 

मालूम हो कि संयुक्त राष्ट्र महासभा का 75वां सत्र जारी है. UNGA के अध्यक्ष वोलकान बोजकिर (Volkan Bozkır) ने 16 सितंबर को सत्र के शुरुआत की घोषणा की थी. इस मौके पर उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों को बहुपक्षवाद बनाए रखने के लिए कहा था.

इस साल सयुंक्त राष्ट्र की स्थापना को 75 साल पूरे हो रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र की स्थापना दूसरे विश्व युद्ध (World War II) के बाद 1945 में की गई थी. कोरोना के चलते संयुक्त राष्ट्र ने पहले ही घोषणा की थी- “अमेरिका (America) के 75 साल के इतिहास में पहली बार Covid-19 महामारी के कारण विश्व के शीर्ष नेता सितंबर के अंत में UN की वार्षिक बैठक के लिए न्यूयॉर्क (New York) नहीं आएंगे.”

’74 सालों में जो नहीं हुआ वो अब करना पड़ेगा’

महासभा के तत्कालीन अध्यक्ष तिजानी मुहम्मद-बंदे (Tijjani Muhammad-Bande) ने कहा था, ““विश्व के नेता न्यूयॉर्क नहीं आ सकते, क्योंकि एक राष्ट्रपति अकेले यात्रा नहीं करता है या नेता अकेले यात्रा नहीं करते हैं और महामारी के दौरान न्यूयॉर्क में बड़े प्रतिनिधिमंडल लाना असंभव है.” अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि पिछले 74 सालों में जो नहीं हुआ, वो अब करना पड़ेगा.

‘वर्चुअल मैसेज रिकॉर्ड कर के भेजें सभी नेता’

वहीं UN के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) ने महासभा अध्यक्ष को लिखे पत्र में सुझाव दिया था कि असेंबली हॉल में मौजूद होने की जगह UN के सभी 193 सदस्य देशों के प्रमुख और सरकारें अपने वर्चुअल मैसेज रिकॉर्ड कर के भेजें, जिन्हें यहां हॉल में चलाया जाए. अब इसी कड़ी में कल पीएम मोदी का रिकॉर्ड किया हुआ भाषण असेंबली हॉल में चलाया जाएगा.

75 साल में पहली बार UNGA की बैठक में शामिल नहीं होंगे नेता, Corona के चलते होगी वर्चुअल मीटिंग