जम्मू कश्मीर: सुरक्षाबलों के हत्थे चढ़े आतंकियों के ये 5 मददगार, हिजबुल-जैश के लिए कर रहे थे काम

पुलिस के अनुसार ये सभी अनंतनाग के इलाकों में संचालित आतंकी संगठन हिजबुल के सक्रिय आतंकवादियों की सहायता करने में शामिल थे. जांच के अनुसार, पकड़े गए आतंकियों के सहयोगी हिजबुल के सक्रिय आतंकवादियों को रसद पहुंचाने और आश्रय प्रदान कर रहे थे.

Army

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर पुलिस ने आंतकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों की मदद करने वाले तीन संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है. आतंकवादियों को मदद करने वाले तीन ओजीडब्ल्यू (ओवर ग्राउंड वर्कर) को गिरफ्तार किया है.

पकड़े गए आतंकियों के मददगारों की पहचान आदिल अहमद डार, आदिल गढ़जी, अरवानी बिजबेहड़ा के अकीब फैयाज मकरू और गुंद चहल निवासी अजाज अहमद सोफी के रूप में हुई है.

पुलिस के अनुसार ये सभी अनंतनाग के इलाकों में संचालित आतंकी संगठन हिजबुल के सक्रिय आतंकवादियों की सहायता करने में शामिल थे. जांच के अनुसार, पकड़े गए आतंकियों के सहयोगी हिजबुल के सक्रिय आतंकवादियों को रसद पहुंचाने और आश्रय प्रदान कर रहे थे.

साथ ही इलाके के युवाओं को आतंकवाद में शामिल होने के लिए प्रेरित कर रहे थे. पकड़े गए ओजीडब्ल्यू के पास से भारी मात्रा में संवेदनशील वस्तुएं बरामद की गई हैं. संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले में आगे की जांच जारी है.

वहीं अवंतीपोरा में पुलिस ने आतंकवादी संगठन जैश से जुड़े आतंकवादियों के एक मददगार को गिरफ्तार किया है. उसकी पहचान तौफीक अहमद भट निवासी मोनगहामा, त्राल के रूप में हुई है. पुलिस का कहना है कि वह त्राल के इलाकों में सक्रिय आतंकवादी संगठन जैश के सक्रिय आतंकवादियों की सहायता करने में शामिल था. उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. मामले में आगे की जांच जारी है.

बुधवार को भी सुरक्षाबलों ने एक आतंकी माड्यूल का फंडाफोड़ करते हुए बड़गाम पुलिस ने पांच आंतकियों को गिरफ्तार किया था. छादूरा इलाके से तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था. बड़गाम पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए संदिग्धों से पूछताछ में पता चला था कि ये लोग आतंकवादी संगठन ISJK से संबंध रखते हैं और ये लोग आतंकवादियों को आश्रय और रसद सहायता भी प्रदान करते थे.

इससे पहले सात फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर पुलिस ने लाल चौक पर ग्रेनेड फेंकने में शामिल जैश के तीन सहयोगियों को गिरफ्तार किया था. पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि जैश सहयोगियों की पहचान नावेद उल लतीफ, शकील अहमद बंद और शमशाद मंजूर के रूप में की गई है. वे सभी दक्षिण कश्मीर के रहने वाले हैं.

Related Posts