VIDEO: कश्मीर में ‘एक्शन’ के बाद फारुक अब्दुल्ला से मिलने जा रही महबूबा की सुरक्षाकर्मियों से बहस

फारुक के घर का रुख करने के कुछ देर पहले ही महबूबा प्रेस से मुखातिब हुईं थी. जहां उन्होंने कहा कि एडवाइजरी की वजह से जम्मू कश्मीर के लोग डरे हुए हैं.

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ्ती को नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला से मिलने से रोका गया. महबूबा फारुक के घर जा रही थीं. तब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की. हालांकि पुलिस के रोकने बावजूद महबूब फारुक से मिलने निकल गईं. इस दौरान उनकी सुरक्षा कर्मियों से काफी बहस हुई अंत में उन्हें जाने दिया गया.

आखिरकार महबूबा मुफ्ती को फारूक अब्दुल्ला से मिलने दिया गया अब वह पीपल्ज़ कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष सज्जाद लोन से मिलने निकली हैं. महबूबा तमाम कश्मीरी नेताओं से मिलकर आगे की रणनीति तय करने जा रही हैं.

फारुक के घर का रुख करने के कुछ देर पहले ही महबूबा प्रेस से मुखातिब हुईं थी. जहां उन्होंने कहा था कि नई दिल्ली की तरफ से जारी की एडवाइजरी की वजह से जम्मू कश्मीर के लोग डरे हुए हैं.

बता दें कि सरकार द्वारा तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों को जल्द से जल्द जम्मू छोड़ने की एडवाइजरी के बाद शुक्रवार की शाम पीडीपी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कॉन्फ्रेंस बुलाई. इस कॉन्फ्रेंस में महबूबा ने कहा, ‘हालांकि इस्लाम में हाथ जोड़ना हराम माना जाता है, इसके बावजूद मैं अपने मुल्क के लोगों के सामने हाथ जोडती हूं और PM मोदी जी को भी ये कहना चाहती हूं कि आप 1 अरब 20 करोड़ लोगों का मैंडेट लेकर आए हैं. जम्मू-कश्मीर एक वाहे मुस्लिम मेजोरिटी स्टेट है. जिसने बहुत मुश्किल हालात में 2 नेशन थ्योरी को रिजेक्ट करके एक सेक्यूलर डेमोक्रेटिक हिन्दुस्तान के साथ हाथ मिलाया. इस दौरान जो वादे किए गए थे उन्हें खत्म करने की कोशिश की जा रही है. पता नहीं क्या-क्या अफवाहें उड़ रही हैं.’

‘आप यात्रियों को यहां से निकाल रहे हैं, टूरिस्ट को यहां से बाहर भेज रहे हैं मगर आप ये नहीं सोच रहे कि कश्मीरी कहां जाएगा. जम्मू और लद्दाख के लोग कहां जाएंगे.’

पिछले कुछ समय से जम्मू कश्मीर में उथल-पुथल की जो स्थिति है, अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा बताकर जो एडवाइजरी जारी की गई है. इसकी वजह से वहांपर अफरा-तफरी का माहौल है. पेट्रोल पंपों और ग्रॉसिरी स्टोर्स पर भीड़ एकट्ठा हो गई है.

ये भी पढ़ें- ‘इस्लाम में हाथ जोड़ने की मनाही फिर भी मैं पीएम मोदी से हाथ जोड़कर अपील करती हूं…’