हिंदी भाषा पर सियासी घमासान, DMK ने दी सड़क पर उतरने की चेतावनी, राहुल गांधी के ट्वीट पर रिजिजू ने घेरा

केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा हिंदी दिवस के मौके पर ‘एक देश, एक भाषा’ दिए गए बयान के बाद राजनीतिक घमासान थम नहीं रहा है. केंद्र सरकार पर तमिलनाडु के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाने वाले द्रविड़ मुनेत्र कझगम (डीएमके) के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने अब केंद्र के रुख के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

राज्य भर में प्रदर्शन करेगी DMK

स्टालिन ने सोमवार को अपनी पार्टी की एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा है कि केंद्र सरकार की जबरन हिंदी थोपने की कोशिशों के खिलाफ डीएमके 20 सितंबर को राज्य भर में प्रदर्शन करेगी.

एक ऐसी भाषा होनी चाहिए…

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिंदी दिवस के मौके पर कहा था कि हिंदी हमारी राजभाषा है, हमारे यहां कई भाषाएं बोली जाती हैं. लेकिन एक ऐसी भाषा होनी चाहिए जो दुनिया में देश का नाम बुलंद करे और पहचान को आगे बढ़ाए और हिंदी में ये सभी खूबियां हैं.

इसी बयान के बाद इस पर विवाद हुआ था. दक्षिण के कई नेता और असदुद्दीन ओवैसी समेत विपक्ष के कई बड़े नेताओं ने इस बयान के विरोध में प्रतिक्रिया दी थी.

‘तमिलनाडु में बड़ी जंग छिड़ जाएगी’

रविवार को स्टालिन ने कहा था कि केंद्र सरकार ने हर बार तमिलनाडु और तमिल भाषा के साथ भेदभाव किया है. स्टालिन से पहले मक्कल निधि मैय्यम अध्यक्ष कमल हासन ने धमकी देते हुए कहा था कि ‘अगर एक राष्ट्र, एक भाषा’ के विचार को आगे बढ़ाया गया तो देश और तमिलनाडु में बड़ी जंग छिड़ जाएगी जो किसी के हित में नहीं होगी.

राहुल गांधी ने किया ट्वीट

अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इशारों-इशारों में ‘एक राष्ट्र, एक भाषा’ के विचार को खारिज किया है. राहुल ने ट्वीट कर कहा कि देश में कई भाषाओं का होना किसी कमजोरी की निशानी नहीं है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने तिरंगे के चित्र के साथ 23 भारतीय भाषाओं के नाम लिखे.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘ओड़िया, मराठी, कन्नड़, हिंदी, तमिल, अंग्रेजी, गुजराती, बंगाली, उर्दू, पंजाबी, कोंकणी, मलयालम, तेलुगू, असमी, बोडो, डोगरी, मैथिली, नेपाली, संस्कृत, कश्मीरी, सिंधी, संथाली, मणिपुरी. भारत की कई भाषाएं इसकी कमजोरी नहीं हैं.’

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कांग्रेस पर तंज कसा

इस बीच केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने एक ट्वीट करके हिंदी भाषा को लेकर कांग्रेस पर तंज कसा है. रिजिजू ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है.

इस वीडियो में हिंदी दिवस के अवसर पर पूर्व वित्त मंत्री अपने संबोधन में कह रहे थे ‘मैं आशा करता हूं कि आप राजभाषा हिंदी को पूरे देश की भाषा के रूप में विकसित करने में पूर्ण समर्पण से जुटे रहेंगे. यह वीडियो 14 सितंबर 2010 का है.

किरण रिजिजू ने ट्वीट कर लिखा है ‘हिंदी भाषा को लेकर कांग्रेस का स्टैंड. अब अपने सहयोगी दलों को भी बता दें.’

CM बीएस येदियुरप्पा का अप्रत्यक्ष रूप से ‘ना’

दक्षिण भारत में बीजेपी के सबसे कद्दावर नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने ‘एक राष्ट्र, एक भाषा’ की अपील को अप्रत्यक्ष रूप से ‘ना’ कह दिया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘हमारे देश में सभी आधिकारिक भाषाएं समान हैं. हालांकि, जहां तक कर्नाटक की बात है, कन्नड़ यहां की प्रमुख भाषा है. हम कभी भी इसके महत्व से समझौता नहीं करेंगे. हम कन्नड़ भाषा और हमारे राज्य की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’

ये भी पढ़ें- एक देश एक भाषा पर इतना बवाल क्यों?