VIDEO: प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को मिला भारत रत्न

प्रणब मुखर्जी देश के 13वें राष्ट्रपति रह चुके हैं. उन्होंने राष्ट्रपति बनने से पहले वित्त मंत्रालय में कुशल नेतृत्व किया.

नई दिल्ली: आज राष्ट्रपति भवन में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को 8 अगस्त को भारत रत्न से सम्मानित किया गया. प्रणव मुखर्जी भारत रत्न के लिए चुने जाने वाले देश के 13वें राष्ट्रपति हैं. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ-साथ यह पुरस्कार मरणोपरांत सामाजिक कार्यकर्ता नानाजी देशमुख और जाने माने असमिया गायक भूपेन हजारिका को भी दिया गया.

इस मौके पर PM मोदी भी राष्ट्रपति भवन में मौजूद थे.

प्रणब मुखर्जी देश के 13वें राष्ट्रपति रह चुके हैं. उन्होंने राष्ट्रपति बनने से पहले वित्त मंत्रालय में कुशल नेतृत्व किया. उन्होंने देश की आर्थिक नीतियों को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. प्रणब मुखर्जी ने ने मनमोहन सिंह की सरकार में रक्षा, विदेश और वित्त मंत्री का पद संभाला था. प्रणब पांचवे बंगाली व्यक्ति हैं जिन्हें भारत रत्न मिला है. हालांकि उन्हें कभी बंगाली नेता के रूप में नहीं जाना गया वो हमेशा राष्ट्र नेता के रूप में ही जाने गए हैं.

मरणोपरांत भारत रत्न से नवाजे जाने वाले नानाजी देशमुख सामाजिक कार्यकर्ता हैं. वाजपेयी की की सरकार के दौरान उन्हें राज्यसभा सदस्य चुना गया था. 1999 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था. 27 फरवरी 2010 को 94 साल की उम्र में नानाजी का निधन हो गया.

भूपेन हजारिका देश के प्रसिद्द असमिया गायक और कवि थे. लोक संगीत में उनका अहम योगदान था. वो अपने गाने खुद ही लिखत और कंपोज करते थे. उन्हें भारतीय सिनेमा के सर्वोच्च दादा साहब फाल्के पुरस्कार, पद्म भूषण और राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है.

ये भी पढ़ें- Kashmir News LIVE: समझौता एक्सप्रेस में लगा भारतीय इंजन, लोको पायलट वापस ला रहे हैं ट्रेन