नीतीश को PK का जवाब, क्या अमित शाह के भेजे आदमी की बात न सुनने की हिम्मत है आपमें?

जनता दल यूनाइटेड में प्रशांत किशोर और पार्टी नेतृत्व के बीच दरार तो काफी पहले से ही सामने आ गई थी, लेकिन इन दोनों ही दिग्गजों की तरफ से पहली बार सार्वजनिक तौर पर कोई टिप्पणी आई है. 

अमित शाह के कहने पर प्रशांत किशोर को जनता दल यूनाइटेड में शामिल किए जाने की बात जैसे ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कही, उसके चंद घंटों में ही प्रशांत किशोर की ओर से उन्हें पलटवार भी मिल गया. चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर भारतीय राजनीति में कोई नया नाम नहीं हैं, हालांकि उन्हें राजनीतिक पहचान जेडीयू से मिली. लेकिन अब जेडीयू प्रमुख ने जब उनको लेकर बयान दिया तो, उनकी इस पारी के बरकरार रहने की बात पर संशय पैदा हो गया है.

दरअसल प्रशांत ने नीतीश के बयान पर पलटवार करते हुए कहा, “नीतीश कुमार…आप इतना गिर गए कि मुझे जेडीयू में क्यों और कैसे शामिल किया गया इसपर झूठ बोल रहे हो. मुझे अपने रंग में रंगने का ये एक बहुत बुरा प्रयास है.” इसी के साथ प्रशांत किशोर ने कहा, और अगर आप सच कह रहे हो तो कौन यकीन करेगा कि आपके पास अब भी इतनी हिम्मत है कि आप अमित शाह द्वारा भेजे गए किसी व्यक्ति की बात न सुनें.

मालूम हो कि जनता दल यूनाइटेड में प्रशांत किशोर और पार्टी नेतृत्व के बीच दरार तो काफी पहले से ही सामने आ गई थी, लेकिन इन दोनों ही दिग्गजों की तरफ से पहली बार सार्वजनिक तौर पर कोई टिप्पणी आई है.

ये भी पढ़ें: सीएम नीतीश कुमार का खुलासा, ‘अमित शाह के कहने पर प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल किया’