ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण
ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण

ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण

"सरकार वाहन क्षेत्र को मंदी से उबारने के लिए काम कर रही है और सरकार वाहन उद्योग के लिए भी कुछ कदम उठाने जा रही है."
ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण

वित्तवर्ष 1997-98 के बाद से ऑटो सेक्टर में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है, जो 23 फीसदी है. पिछले 21 सालों में वाहन उद्योग में सबसे कम बिक्री हुई है. ऑटो सेक्टर में आई इस सुस्ती को लेकर वित्त मंत्री सीतारमण ने सरकार की तरफ से सफाई पेश की है.

वाहन उद्योग के लिए जीएसटी दरों की कटौती को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए निर्मला ने कहा कि, ऑटो सेक्टर BS6 स्टैंडर्ड, रजिस्ट्रेशन फी से जुड़े मामलों और लोगों के माइंड सेट से सबसे ज्यादा प्रभावित है.

ओला-उबर को ठहराया जिम्मेदार

वित्त मंत्री के मुताबिक आजकल ज्यादातर लोग गाड़ी खरीदने की बजाय ओला-उबर को प्रियोरिटी दे रहे हैं. लोग गाड़ी खरीदकर EMI भरने से बचते हैं और बिना कोई सिर दर्द पाले ओला-उबर से चलना पसंद करते हैं.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि “ऐसा नहीं है कि सरकार जीडीपी को बढ़ाने के लिए कुछ नहीं कर रही है, बल्कि जीडीपी में गिरावट विकास प्रक्रिया का हिस्सा है. हमारा पूरा ध्यान अब इस बात पर है कि अगली तिमाही में जीडीपी को किस प्रकार से बढ़ाया जाए.”

निर्मला ने कहा, “सरकार वाहन क्षेत्र को मंदी से उबारने के लिए काम कर रही है और सरकार वाहन उद्योग के लिए भी कुछ कदम उठाने जा रही है.”

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि मंदी आर्थिक प्रक्रिया का हिस्सा है और सरकार इन्फ्रास्ट्रक्चर पर जितना संभव हो उतना अधिक खर्च करेगी, ताकि अर्थव्यवस्था में मांग और खपत तेज हो. जीडीपी में गिरावट अर्थव्यवस्था के चक्र का हिस्सा है और सरकार इसे लेकर सचेत हैं कि उसे इसे रोकने के लिए कदम उठाने हैं.

निर्मला ने यह बात मोदी 2.0 के 100 दिनों के पूरा होने पर अपने मंत्रालय के कामकाज की जानकारी देने के लिए बुलाई गई प्रेस वार्ता में कही.

मंत्री ने इसके अलावा कम जीएसटी संग्रह पर चिंता जताई. अगस्त 2019 में जीएसटी संग्रह कुल 98,202 करोड़ रुपये हुई, जो पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 4.51 फीसदी अधिक है. अगस्त 2018 में कुल 93,960 करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ था.

निर्मला ने यह भी कहा कि सरकार घर खरीदारों के लिए राहत मुहैया कराने पर काम कर रही है और जल्द ही इसकी घोषणा की जाएगी.

ये भी पढ़ें- हरियाणा में इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान अब कुमारी शैलजा के हाथ

ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण
ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण

Related Posts

ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण
ola uber, ओला-उबर की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार हुई सुस्त: निर्मला सीतारमण