pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल
pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल

सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल

गांव में अगर किसी की तबीयत बिगड़ जाए तो मीलों तक लोग उसे अपने कंधों पर लाद कर मुख्य सड़क तक लाते हैं और तब जाकर उन्हें एंबुलेंस में डाला जाता है.
pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल

देश में कई ऐसे गांव हैं जिनका कनेक्शन मुख्य सड़कों से अब तक नहीं हो पाया है. उन गांवों तक जाने वाली कच्ची-पक्की पगडंडियों पर एंबुलेंस तो दूर इंसानों का चलना भी मुश्किल हो जाता है. ऐसे में गांव में अगर किसी की तबीयत बिगड़ जाए तो मीलों तक लोग उसे अपने कंधों पर लाद कर मुख्य सड़क तक लाते हैं और तब जाकर उन्हें एंबुलेंस में डाला जाता है.

पगडंडी से सड़क तक पहुंचने का ये समय कई बार रोगियों की जान तक ले लेता है. ऐसी ही बुनियादी सुविधा की कमी देखने को मिली छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में. जब जिले के जरवही गांव में एक गर्भवती महिला की तबीयत बिगड़ गई. हालत इतनी खराब हो गई कि परिजनों ने एक लकड़ी पर चारपाई बांध कर उसे ही स्ट्रेचर बना लिया, जिसपर लाद कर महिला को मुख्य सड़क तक ले गए. जहां से उसे अस्पताल ले जाया गया.

उसी गांव की प्रभा ने मीडिया से बातचीत में बताया कि सड़क न होने की वजह से लोगों को मजबूरन यही रास्ता अपनाना पड़ता है. गर्भवती महिलाओं को कभी चारपाई पर तो कभी दोपहिया वाहन पर अस्पताल ले जाया जाता है. प्रभा का कहना है कि कई बार तो इस वजह से कई गर्भवती महिलाओं की मौत तक हो जाती है.

मामला सामने आने के बाद बलरामपुर जिले के वन अधिकारी प्रणय मिश्रा ने कहा कि गांव वाले अक्सर इस रास्ते का इस्तेमाल जिला मुख्यालय तक पहुंचने के लिए करते हैं. हमने यहां एक सड़क निर्माण के लिए प्रस्ताव भेजा है. हम कोशिश करेंगे कि जल्द से जल्द यहां सड़क निर्माण कराया जा सके.

ये भी पढ़ें : बेरहमी से की गई अंकित की हत्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा, शरीर में मिले अनगिनत चाकुओं के निशान

pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल
pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल

Related Posts

pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल
pregnant woman was carried on a makeshift stretcher, सड़क न होने के चलते नहीं पहुंच सकी एंबुलेंस, तो चारपाई का स्ट्रेचर बना गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल