मोदी-योगी के साथ रेप आरोपी सेंगर की तस्वीर देख भड़कीं प्रियंका गांधी, बोलीं- अब तो हद ही हो गई

प्रियंका गांधी ने कहा कि 'सीबीआई ने रिपोर्ट दे दी. सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगा दी, लेकिन बीजेपी वालों के दिल में अभी भी रेप आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर का वास है.'

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार फिर उन्नाव रेप आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है. प्रियंका ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम को बधाई देने के लिए छापे गए पोस्टर पर सेंगर की भी फोटो लगाने का कड़े शब्दों में विरोध किया है.

प्रियंका ने एक विज्ञापन की एक कॉपी ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा, “सीबीआई ने रिपोर्ट दे दी. सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगा दी, लेकिन बीजेपी वालों के दिल में अभी भी रेप आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर का वास है. बीजेपी के बड़े नेताओं का फोटो भी उनके साथ है. क्या उनसे कोई टिप्पणी आएगी?” उन्होंने आगे लिखा इनफ इज इनफ.

उंगू नगर पंचायत के अध्यक्ष ने छपवाया विज्ञापन
दरअसल, उंगू नगर पंचायत के अध्यक्ष अनुज कुमार दीक्षित ने स्वंतत्रता दिवस पर उन्नाव के एक प्रमुख अखबार में एक विज्ञापन छपवाया था. इस विज्ञापन में कुलदीप सिंह सेंगर और उनकी पत्नी तथा जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सिंह सेंगर की तस्वीरें हैं. मालूम हो कि सेंगर को भले ही भारतीय जनता पार्टी से निकाला जा चुका है.

वहीं, दूसरी तस्वीर में पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, सीएम योगी आदित्यनाथ सहित कई नेताओं की फोटो हैं. अनुज कुमार दीक्षित ने विज्ञापन पर हुए विवाद पर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, “कुलदीप सेंगर अभी भी हमारे क्षेत्र से विधायक हैं. हम उनकी फोटो कहीं भी लगा सकते हैं. इसीलिए यह फोटो लगाई गई है.”

BJP ने खुद को विवाद से किया अलग
हालांकि, बीजेपी ने इस विवाद से खुद को अलग कर लिया है. पार्टी प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने भाषा को बताया कि ‘सेंगर की तस्वीर विज्ञापन में देना किसी की निजी पसंद हो सकती है. पार्टी और सरकार का इससे कोई लेना-देना नहीं है. पार्टी और सरकार को जो करना था, वह कर किया जा चुका है. हमारी सेंगर के साथ कोई सहानुभूति नहीं है.’

बता दें कि उन्नाव गैंगरेप का आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर इस समय जेल में बंद है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मामले की सुनवाई अब दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में चल रही है. पीड़िता पिछले महीने जब रायबरेली में अपने चाचा से मिलकर वापस उन्नाव जा रही थी तभी उसकी कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी, जिसमें उसकी मौसी और चाची की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें-

जम्‍मू-कश्‍मीर में फिर से करना होगा विधानसभा सीटों का परिसीमन, बोले राम माधव

15 अगस्त को मिला था ‘बेस्ट कॉन्स्टेबल’ अवार्ड, एक दिन बाद ही घूस लेते पकड़ा गया पुलिसकर्मी

UAPA में हुए बदलाव को SC में चुनौती, याचिकाकर्ता ने कहा- मूल अधिकारों के खिलाफ है ये कानून