प्रियंका गांधी वाड्रा की हो सकती है गिरफ्तारी, सुब्रह्मण्यम स्वामी ने दी जानकारी

बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बार-बार राफेल डील को लेकर पीएम मोदी पर आरोप लगा रहे हैं जो ख़ुद बेल पर चल रहे हैं.

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी हो सकती है गिरफ़्तार, ये कहना है बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी का. अयोध्या पहुंचने के बाद बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बार-बार राफेल डील को लेकर पीएम मोदी पर आरोप लगा रहे हैं जो ख़ुद बेल पर चल रहे हैं. राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में आरोपी हैं. राहुल गांधी ने बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम पर ज़मानत ले रखी है. यानी कि अगर वो देश से भागते हैं तो क़ानून का शिकंजा बहन पर टाइट होगा और उनकी गिरफ़्तारी हो सकती है.

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘यह हास्यास्पद बात है वो ख़ुद बेल पर हैं. बेल कोई मामूली चीज़ नहीं है. बेल तब दी जाती है जब यह मानकर चलें कि आपने अपराध किया है. वो व्यक्ति देश से भागेंगे नहीं ये विश्वास इसलिए ही है क्योंकि वह सांसद हैं. वहां वो ख़ुद बाहर आए हैं, 50 हज़ार रुपये जुर्माना भी दिया है. अपनी बहन को ज़मानतदार रखा है. माने वो भाग जाएंगे तो उनकी बहन की गिरफ़्तारी होगी.’

स्वामी ने आगे कहा कि ‘कांग्रेस सरकार आना देश के लिए हितकर नहीं है. जिस तरह से मध्यप्रदेश में नक़द रुपये मिले हैं उससे भ्रष्टाचार उजागर होता है. राष्ट्र सुरक्षा और भ्रष्टाचार आज देश के लिए मुख्य मुद्दा है.’

मुख्यमंत्री कमलनाथ के विशेष कार्याधिकारी के ठिकानों पर छापेमारी

दरअसल दिल्ली से आए आयकर विभाग के दलों ने पिछले हफ़्ते ही मुख्यमंत्री कमलनाथ के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) प्रवीण कक्कड़ के भोपाल व इंदौर के ठिकानों पर दबिश दी थी।. इसके साथ ही अश्विनी शर्मा व प्रतीक जोशी के भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा स्थित आवास व कार्यालय पर छापे मारे. आयकर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस कार्रवाई मे 14.60 करोड़ रुपये की नगदी के साथ कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी मिले हैं, वहीं 281 करोड़ के लेन-देन का भी ब्यौरा मिला है.

आयकर विभाग ने शराब की 252 बोतलें, हथियार और बाघ की खाल, राज्य मे बड़े पैमाने पर संगठित तरीके से कारोबारियों, राजनेताओं और नौकरशाहों के बीच 281 करोड़ रुपये के लेन-देन का ब्यौरा मिलने की बात कही है. इसके अतिरिक्त दिल्ली में एक बड़े राजनीति दल के मुख्यालय को भी हाल ही में हवाला के जरिए 20 करोड़ रूपये भेजने का भी खुलासा हुआ है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर राहुल ने क्या कहा था

कांग्रेस अध्यक्ष ने 10 अप्रैल को दावा किया था कि शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में स्पष्ट कर दिया है कि मोदी ने चोरी की है. जिसके बाद बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी पर सुप्रीम कोर्ट के बयान को गलत तरह से पेश करने का आरोप लगाते हुए आपराधिक अवमानना की याचिका दायर की थी.

सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को नोटिस जारी करते हुए 22 अप्रैल तक जवाब देने को कहा है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली बेंच ने कहा कि कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की है.

कोर्ट ने कहा, ‘हम यह स्पष्ट करते हैं कि राहुल गांधी ने इस अदालत का नाम ले कर राफेल सौदे के बारे में मीडिया और जनता में जो कुछ कहा उसे गलत तरीके से पेश किया. हम यह स्पष्ट करते हैं कि राफेल मामले में दस्तावेजों को स्वीकार करने के लिए उनकी वैधता पर सुनवाई करते हुए इस तरह की टिप्पणियां करने का मौका कभी नहीं आया.’