अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को धमकाने वाले प्रोफेसर ने बिना शर्त माफी मांगी

धवन को श्राप देने वाले 88 वर्षीय प्रोफ़सर के खिलाफ अवमानना का मामला कोर्ट ने बंद कर दिया.

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को धमकाने का आरोप लगाते हुए तमिलनाडु के प्रोफेसर शनमुगम के खिलाफ दाखिल अवमानना मामले को सुप्रीम कोर्ट ने बंद कर दिया.

गुरुवार को मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को श्राप देने वाले 88 वर्षीय प्रोफेसर के खिलाफ अवमानना का मामला कोर्ट ने बंद कर दिया. प्रोफ़सर ने बिना शर्त माफी मांगी ली. वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट में कहा कि हमें इनके लिए कोई सज़ा नहीं चाहिए.

सिब्बल ने कोर्ट में कहा हम सिर्फ इस बात को आपके नोटिस में लाना चाहते थे. हम सिर्फ ये कहना चाहते हैं कि इस देश में ऐसा नहीं होना चाहिए. हम इस मामले को बंद करना चाहते हैं. हम सिर्फ ये चाहते हैं कि पूरे देश में ये मैसेज जाए कि ऐसा नहीं होना चाहिए.

सिब्बल ने कहा हम इनके (प्रोफेसर) खिलाफ कोई एक्शन नहीं लेना चाहते. CJI ने प्रोफेसर के वकील से कहा- आप 88 वर्ष के हैं. आप ऐसा क्यों कर रहे हैं CJI ने कहा- इस शर्त पर हम केस बन्द कर रहे हैं और कोई एक्शन नहीं ले रहे कि दोबारा ऐसा न हो.