कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शनों के चलते दिल्ली की सीमाओं पर बढ़ी सुरक्षा

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "हम पंजाब और हरियाणा (Punjab and Haryana) के साथ लगी सीमाओं पर नजर रख रहे हैं. किसानों को दिल्ली (Delhi) में प्रवेश करने से रोकने के लिए व्यवस्था की गई है." दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर भी एहतियाती कदम उठाए गए हैं.

खेती से जुड़े बिल (Agriculture Bills) संसद (लोकसभा और राज्यसभा) में जरूर पास हो गए हैं लेकिन इनको लेकर हंगामा अभी जारी है. किसान प्रदर्शन (Farmers Protest) को देखते हुए दिल्ली पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है. तीन कृषि विधेयकों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के किसानों के विरोध को देखते हुए दिल्ली की अंतरराज्यीय सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

रविवार को एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी. एहतियात के तौर पर सिंघु सीमा (Singhu Border) और जीटी-करनाल रोड समेत कई सीमावर्ती क्षेत्रों में अधिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है. आशंका है कि आसपास के राज्यों के किसान अपना विरोध जताने के लिए दिल्ली (Delhi) आ सकते हैं. दरअसल, अलग-अलग किसान संगठनों (Farmer Organizations) ने इन विधेयकों पर विरोध प्रदर्शन करने की अपील की है.

किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने की व्यवस्था

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “हम पंजाब और हरियाणा (Punjab and Haryana) के साथ लगी सीमाओं पर नजर रख रहे हैं. किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए व्यवस्था की गई है.” दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा (Delhi-UP Border) पर भी एहतियाती कदम उठाए गए हैं. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों के प्रवेश को रोकने के लिए गाजीपुर और अशोक नगर की ओर सुरक्षा बलों की दो कंपनियां तैनात की गई हैं.

कई राज्यों के किसान कर रहे तीनों बिलों का विरोध

पुलिस उपायुक्त (पूर्व) जसमीत सिंह (Jasmeet Singh) ने कहा, “हमने दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर एहतियात के तौर पर सीमा चौकियां बनाई हैं. हमारी टीमें अलर्ट पर हैं.” बता दें कि कई राज्यों के किसान तीनों कृषि विधेयकों- कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (विकास और सुविधा) विधेयक, मूल्य आश्वासन पर किसान (बंदोबस्ती और सुरक्षा) समझौता कृषि सेवा विधेयक और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक का विरोध कर रहे हैं. (IANS)

Related Posts