pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम
pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम

नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम

pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम

नयी दिल्ली
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार दोपहर हुए अभी तक के सबसे बड़े आत्मघाती हमले ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है. पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर हुए इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए हैं. शुक्रवार शाम शहीदों के पार्थिव शरीर को दिल्ली लाया गया जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम राजनेताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की. उसके बाद शहीदों के पार्थिव शरीर को अन्य राज्यों में स्थित उनके घर पहुंचा दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीआरपीएफ के दो शहीद जवानों रतन कुमार, संजय कुमार सिन्हा को श्रद्धांजलि दी. गुस्साए लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद और देश मांगे बदला के नारों के साथ बिहार नेशनल हाईवे को जाम किया.

वाराणसी के तोफापुर गांव में सीआरपीएफ जवान शहीद रमेश यादव के अंतिम संस्कार के लिए हजारों की भीड़ हाथों में तिरंगा लिए पहुंची.

वहीं, शहीद रोहिताश का पार्थिव शरीर राजस्थान के जयपुर स्थित गोविंदपुरा पहुंचा है. यहां उनके अंतिम दर्शन करने के लिए काफी संख्या में लोग पहुंचे. गोविंदपुरा में शहीद रोहिताश का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सीआरपीएफ जवान मोहन लाल के पार्थिव शरीर को लाया गया. उनकी शहादत को सलाम करने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सहित कई बड़े नेता पहुंचे.

कर्नाटक के मांड्या गांव में भी शहीदों के अंतिम संस्कार के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे. सीआरपीएफ की टीम पर हमला इतना भीषण था कि बस के परखच्चे उड़ गए. जवानों के शव भी क्षत-विक्षत हो गए.

उत्तर प्रदेश के शामली में शहीद जवान प्रदीप को अंतिम विदाई देने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंचे. यहां भी कई नेता जवान की शहादत को सलामी देने के लिए पहुंचे.
पुलवामा हमले में महराजगंज के पंकज त्रिपाठी भी शहीद हुए हैं. उनकी गर्भवती पत्नी रोहिणी बार-बार बेसुध हो रही हैं. उनका पार्थिव शरीर भी उनके गांव पहुंच गया है.

पंजाब के मोगा निवासी शहीद जैमल सिंह, तरन तारन के सुखजिंदर सिंह, गुरुदासपुर के मनिंदर सिंह अत्री और रोपड़ के कुलविंदर सिंह का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया. यहां भी लोगों का गुस्सा एक दम चरम में था और लोग केवल एक ही मांग कर रहे हैं कि पाकिस्तान को माकूल जवाब दिया जाए.

गौरतलब है कि शहीद हुए 40 जवानों में 12 उप्र के, 5 राजस्थान के, 4 पंजाब के हैं. इसके अलावा प.बंगाल, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, ओडिशा, तमिलनाडु, बिहार के 2-2 जवान शहीद हुए. असम, केरल, कर्नाटक, झारखंड, मध्यप्रदेश, हिमाचल और जम्मू-कश्मीर के एक-एक जवान ने भी अपनी जान गंवा दी.

pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम
pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम

Related Posts

pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम
pulwama terror attack, नम आंखों से शहीदों की दी गई विदाई, कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन, बिहार में लोगों ने हाईवे किया जाम