पुलवामा आतंकी हमले पर बोले सिद्धू- गालियों से नहीं, बातचीत से निकलेगा हल

Share this on WhatsAppजम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले से देश गुस्से में है. कई सारे लोग सोशल मीडिया के जरिए आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से बदला लेने की बात कर रहे हैं. इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने घटना को लेकर पाकिस्तान से बातचीत करने की सलाह दी है. […]

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले से देश गुस्से में है. कई सारे लोग सोशल मीडिया के जरिए आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से बदला लेने की बात कर रहे हैं. इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने घटना को लेकर पाकिस्तान से बातचीत करने की सलाह दी है. सिद्धू ने कहा, “आतंकियों का कोई देश या धर्म नहीं होता है. गालियां देने से इसका समाधान नहीं होगा, आतंकवाद का हल ढूढंना ही होगा.”

सिद्धू ने कहा, “ऐसे लोगों का कोई धर्म नहीं होता, देश नहीं होता, जाति नहीं होती. लोहा लोहे को काटता है, आग आग को काटती है.” उन्होंने कहा कि जहां-जहां जंगें चलती रहती है वहां डायलॉग भी साथ-साथ चलता है. आतंकवाद का स्थायी समाधान खोजा जाना चाहिए.

सिद्धू ने इस आतंकी हमले की निंदा की. उन्होंने कहा कि हमल के दोषियों को सजा तो मिलनी चाहिए लेकिन साथ ही साथ बातचीत, अतंरराष्ट्रीय समुदाय के दबाव का इस्तेमाल कर इसका समाधान निकाला जाना चाहिए. सिद्धू ने कहा, “गालियां देने से ये ठीक नहीं होगा… कब तक हमारे जवान शहीद होते रहेंगे. कब तक ये खून खराबा चलता रहेगा.”

गुरुवार को पुलवामा में एक फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से भरी कार से CRPF जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी. साल 2016 में उरी में हुए हमले के बाद यह सबसे बड़ा आतंकवादी हमला है. इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *