बिना देरी किए प्ले स्टोर से एंटी-इंडिया एप को हटाए गूगल: अमरिंदर सिंह

एप को तुंरत बंद करने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गूगल प्ले से एप को कोई भी डाउनलोड कर सकता है. यह जाहिर तौर पर ISI के एजेंडे को सिद्ध करने की कोशिश करता है.

गूगल प्ले स्टोर में मौजूद एक एंटी-इंडिया एप की खबरें आने के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को अपने अधिकारियों को इस मामले को उचित तरीके से उठाने का निर्देश दिया है. उन्होंने साथ ही कंपनी को इसे हटाने के लिए कहा है. मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से भी आग्रह किया है कि वह इस विवादास्पद एप को तुरंत हटाने के लिए कंपनी को निर्देश दें.

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि राज्य ने इस बाबत गूगल के समक्ष यह मुद्दा उठाया है. करतारपुर कॉरिडोर के खुलने से ठीक पहले मुख्यमंत्री के निर्देशों पर अमल करते हुए पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने केंद्रीय जांच एजेंसियों के साथ मिलकर ‘2020 सिख रेफरेंडम’ एप से होने वाले खतरों से निपटने की व्यवस्था कर ली है.

एप को तुंरत बंद करने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गूगल प्ले से एप को कोई भी डाउनलोड कर सकता है. यह जाहिर तौर पर ISI के एजेंडे को सिद्ध करने की कोशिश करता है, जिसके अनुसार गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के मौके से पहले सिख समुदाय के लोगों को बांटने का प्रयास किया जा रहा है.

ऐसा होने देने के लिए कंपनी की गैर-जिम्मेदाराना हरकत पर मुख्यमंत्री ने कहा, “पहली बात तो यह है कि कैसे और क्यों गूगल ने इस प्रकार की एप को अपलोड होने दिया.” उन्होंने कहा कि अगर कंपनी चरमपंथी समूह का समर्थन नहीं करना चाहती है, तो गूगल को चाहिए कि वह एक मिनट की देरी किए बिना अपने प्ले स्टोर से एप को हटा दे.

ये भी पढ़ें: अमिताभ बच्‍चन ने पूछा ऐसा सवाल मच गया बवाल, ट्रेंड करने लगा बायकॉट KBC